Lucknow: गोमती पुस्तक मेले के पहले दिन उमड़ी पाठकों की भीड़

Crowd of readers gathered on the first day of Gomati Book Fair

पाठकों की चहल-पहल से गुलजार गोमती पुस्तक महोत्सव का पहले दिन विश ए बुक पाठकों की उत्सुकता का केंद्र बना रहा। नेशनल बुक ट्रस्ट, इंडिया तथा भारतीय डाक द्वारा आयोजित इस अनूठी पहल में पाठकों को अपनी पसंदीदा पुस्तकों के बारे में प्रकाशकों को सूचित करने का अवसर उपलब्ध करवाया गया है। गोमती रिवरफ्रंट पार्क में लाखों पुस्तकों से सजे गोमती पुस्तक महोत्सव के दूसरे संस्करण का उद्घाटन लखनउ शहर के बच्चों और युवाओं द्वारा किया गया, जिनमें स्कूली बच्चे, दृष्टिबाधित बच्चे, आउट आॅफ स्कूल बच्चे और शहर के युवा शामिल थे।

इस अवसर पर एनबीटी इंडिया के निदेशक श्री युवराज मलिक ने कहा, बच्चे और युवा देश का भविष्य हैं और पुस्तकें सभी के लिए हैं। ये पढ़ेंगे, देश आगे बढ़ेगा।  इस पीढ़ी को पुस्तकों से जोड़ने के लिए पुस्तकों की उपलब्धता सुगम्य करने की आवश्यकता है और यह
महोत्सव इस दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है। उन्होंने शिक्षकों और अभिभावकों से बच्चों को बुक रीडिंग से जोड़ने की अपील की।गोमती पुस्तक महोत्सव के उद्घाटन समारोह में माननीय प्रधानमंत्री जी के विजन  बुक्स नॉट बुके अभियान के तहत गणमान्य सदस्यों व बच्चों को पुस्तकें भेंट की गईं और बच्चों से अपील की गई कि वे अपने जन्मदिन पर अपने माता—पिता से उपहार की जगह पुस्तकों की मॉंग करें। पुस्तक मेले के पहले दिन ब्रेल पुस्तकों के वितरण काउंटर पर शिक्षा मंत्रालय तथा सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय, भारत सरकार की संयुक्त पहल के अनुरूप शकुंतला मिश्रा नेशनल रिहेबिलिटेशन यूनिवर्सिटी की तरफ से आए 70 से अधिक बच्चों को मुफ्त ब्रेल की पुस्तक वितरित की गई। चिल्डन कॉर्नर पर गुलजार हुई बच्चों की दुनिया. बाल मंडप में प्रसिद्ध कथावाचक सिमी श्रीवास्तव के सत्र गीत का कमाल में सिटी मोंटेसरी, लखनऊ पब्लिक स्कूल, सरस्वती विद्या मंदिर और अमेठी के न्यू सिटी मोंटेसरी के सैकड़ों बच्चों ने उत्साह से भाग लिया। राष्टीय बाल साहित्य केंद्र द्वारा  गोमती नदी की सांस्कृतिक और आध्यात्मिक विरासत' को लेकर बच्चों को प्रेरित करते हुए लघुकथा लेखन और निबंध प्रतियोगिता का भी आयोजन किया गया। पुस्तक मेले के साहित्य मंच लेखकगंज में अनब्रोकन द ब्रसल्स टेरर अटैक सरवाइवर की लेखिका और सरवाइवर निधि चापेकर ने अपना पोस्ट टोमा तथा इससे बाहर निकलने के अनब्रोकन ह्यूमन फाइटिंग स्पिरिट और फिर से खड़े होने की यात्रा का अनुभव साझा किया और श्रोताओं को जीवन को नए नजरिये से
देखने के लिए प्रेरित किया। 10 दिसंबर , रविवार को गोमती पुस्तक महोत्सव में सुश्री अनिता भटनागर जैन द्वारा कथा वाचन का
आयोजन किया जाएगा तथा गणित के टिप्स हेतु वैदिक गणित पर विशेष सत्र का आयोजन किया जाएगा। साहित्य मंच लेखकगंज आॅपरेशन बजूका के लेखक व पूर्व आईपीएस अधिकारी राजेश पांडेय चर्चा करेंगे, जबकि लखनउ की ऐतिहासिक और सांस्कृतिक विरासत के बारे में अपनी पुस्तक के माध्यम से रवि भट्ट पाठकों से रूबरू होंगे। शाम 4 से 5 वसुधैव कुटुंबकम की संकल्पना के अंतर्गत पौराणिक गाथाओं द्वारा विभिन्न देशों की संस्कृतियों को जोड़ने की चर्चा में प्रख्यात लेखिका सुश्री कोरल दास गुप्ता और युवा लेखक श्री अंतर अत्रेय और केविन मिशल शामिल होंगे।

Related Articles

Back to top button