Crime : जमीनी विवाद में पुराने रंजिश के चलते मुख्य आरोपी ने 50 हजार की सुपारी देकर इस वारदात को अंजाम दिलाया था।

Due to old enmity in land dispute, the main accused had carried out this incident after giving a contract of Rs. 50,000.

जयपुर/उदयपुर, 19 मई। उदयपुर जिले में घर से खेत जा रहे एक व्यक्ति को घात लगाकर बैठे हमलावरों द्वारा गंभीर घायल कर देने के मामले का खुलासा कर वल्लभनगर थाना पुलिस ने घटना के मुख्य आरोपी एवं हमले में शामिल चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है। जमीनी विवाद में पुराने रंजिश के चलते मुख्य आरोपी ने 50 हजार की सुपारी देकर इस वारदात को अंजाम दिलाया था। एसपी योगेश गोयल ने बताया कि आरोपी नारु लाल डांगी पुत्र भेराजी निवासी साकरिया खेड़ी, सुरेश उर्फ सूर्या डांगी पुत्र चुन्नीलाल निवासी भँवरासिया हाल सारेला कला, बाबूलाल गायरी पुत्र नंदलाल निवासी गाड़रियावास एवं लोकेश डांगी पुत्र सोहनलाल निवासी वेलवा दरौली थाना डबोक एवं तथा सुरेश उर्फ सूरी उर्फ सूर्या उर्फ ठाका पुत्र विजय लाल डांगी निवासी विजयपुरा थाना वल्लभ नगर (जिला उदयपुर) को गिरफ्तार किया गया है। एसपी गोयल ने बताया कि घटना के संबंध में साकरिया खेड़ी निवासी मोहनलाल डांगी ने रिपोर्ट देते हुए बताया कि 25 जनवरी की सुबह उसके पिता रामलाल डांगी अपने स्कूटी से खेत जाने के लिए निकले थे। रास्ते में पहले से घात लगाकर बैठे चार व्यक्तियों ने लाठी और लोहे के पाइप से जानलेवा हमला कर दिया। शोर सुनकर आसपास के लोगों के आने से आरोपी उनकी स्कूटी लेकर भाग गए। घटना की गंभीरता को देखते हुए आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अंजना सुखवाल के सुपरविजन व सीओ राजेंद्र सिंह जैन के नेतृत्व में गठित टीम द्वारा घटना का खुलासा कर मुख्य आरोपी नारु लाल डांगी एवं चार हमलावरों सुरेश उर्फ सूर्या, बाबूलाल, लोकेश एवं सुरेश उर्फ सूरी उर्फ सूर्या ओर ठाका को गिरफ्तार किया गया। एसपी गोयल ने बताया कि आरोपी नारु लाल डांगी तथा परिवादी रामलाल डांगी आपस में रिश्तेदार हैं और इनमें पहले से भूमि विवाद चल रहा है। नारु लाल अभी पंचायत समिति वल्लभ नगर में कार्यरत है। जिसने रामलाल डांगी को रास्ते से हटाने व जान से मारने के लिए अपने भतीजे भरत डांगी के मार्फत सुरेश उर्फ सूर्या, बाबूलाल गायरी एवं सुरेश उर्फ ठाका को 50 हजार की सुपारी दी। अभियुक्तों ने रामलाल डांगी के मकान व खेतों को जाने वाले रास्ते की रैकी कर पूरी योजना तैयार की। घटना के रोज सुरेश उर्फ ठाका ने इस वारदात को अंजाम देने के लिए अपने साथ लोकेश डांगी व देवेंद्र सिंह उर्फ़ देवा निवासी ढीकली को ले लिया और दिन उगने से पहले रास्ते में झाड़ियां में छुपकर बैठ गये, जैसे ही रामलाल वहां आया, नारु लाल के इशारे पर उन्होंने रामलाल पर लाठी और लोहे के पाइप से जानलेवा हमला कर दिया। रामलाल डांगी के चिल्लाने से लोगों के आ जाने के कारण तीनों अभियुक्त स्कूटी लेकर भाग गए और नारु लाल डांगी खेतों में होकर भाग गया।

Related Articles

Back to top button