लक्ष्य के लिए मार्च तक करना होगी और 10 करोड़ राजस्व प्राप्ति

अचल संपत्ति गाइडलाइन के लिए आज से नागरिक दे सकेंगे सुझाव

✍️इम्तियाज खान intu
बड़वानी। अचल संपत्ति की गाइडलाइन वर्ष 2022-23 के लिए शुक्रवार को कलेक्टोरेट में बैठक हुई। इस दौरान जिला मूल्यांकन समिति की बैठक में कलेक्टर की मौजूदगी में जिले की चार उप जिला मूल्यांकन समितियों बड़वानी, राजपुर, सेंधवा और पानसेमल के प्रस्तावों पर विचार किया। वहीं इस दौरान मौजूदा 2021-22 में मुद्रांक और पंजीयन की स्थिति प्रस्तुत कर लक्ष्य पूर्ति के निर्देश दिए।
बैठक में जिला पंजीयक दीपक कुमार शर्मा ने बताया कि वर्ष 2021-22 में शासन ने जिले को मुद्रांक और पंजीयन से 45 करोड़ रुपए आय का लक्ष्य दिया है। बीते वर्ष एक अप्रैल से इस वर्ष 30 जनवरी तक जिले में आठ हजार नौ दस्तावेजों के पंजीयन किए गए। इससे 40 करोड़ रुपए का राजस्व अर्जित किया गया। वित्तिय वर्ष का लक्ष्य 90 फीसदी प्राप्त हो चुका है। शेष मौजूदा फरवरी व आगामी मार्च के दौरान 10 करोड़ रुपए और राजस्व प्राप्त होने की संभावना है। उन्होंने बताया कि आय लक्ष्य से पांच करोड़ रुपए अधिक राजस्व की उम्मीद है। बैठक में शर्मा ने बताया कि वर्ष 2022-23 के लिए पांच से 15 फरवरी तक आम नागरिकों के अवलोकन के लिए गाइडलाइन जिला पंजीयक कार्यालय बड़वानी सहित उप पंजीयक कार्यालयों में उपलब्ध रहेगी। कार्यालयीन समय में आमजन गाइडलाइन का अवलोकन कर सुझाव दे सकेंगे। सुझावों पर विचारोपरांत गाइडलाइन वर्ष 2022-23 के प्रस्ताव केंद्रीय मूल्यांकन बोर्ड भोपाल को प्रेषित करेंगे।
➡️1211 लोकेशन पर वृद्धि की संभावना
आगामी गाइडलाइन के प्रस्तावों में उन लोकेशन पर वृद्धि प्रस्तावित की गई है, जहां पर अधिक राजस्व प्राप्त होने की संभावना है। ऐसी लगभग 1211 लोकेशन पर उनके वास्तविक मूल्यों के अनुपात में 10 से 25 प्रतिशत के बीच वृद्धि प्रस्तावित की है। गाइडलाइन वृद्धि के लिए जिला मूल्यांकन समिति ने गत वर्ष की रजिस्ट्रियां, डायवर्शन आदेश, नगर, ग्राम निवेश की अनुमति और रियल एस्टेट नियामक प्राधिकरण की जारी अनुमतियां आदि के आधार पर नई लोकेशन और वृद्धि प्रस्तावित की है। जिले की 608 ऐसी लोकेशन है, जिन पर गाइडलाइन मूल्य से अधिक मूल्य पर रजिस्ट्रियां हुई है। इन लोकेशन पर दरों में वृद्धि की जा रही है। आगामी गाइडलाइन एक अप्रैल 2022 से प्रभावशील होगी।

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com