तीन दिवसीय प्रशिक्षण संपन्न

दैनिक हमारा मैट्रो
बड़वानी। जुलवानिया में जिले के 15 गांव से बाल संरक्षण समिति और शाला प्रबंधन समिति  और पंचायत सदस्यों एनजोओ के सदस्यों के साथ पहल जनसहयोग विकास संस्था के द्वारा तीन दिवसीय समूह प्रशिक्षण का आयोजन किया। लिंग आधारित भेदभाव को समाप्त करने के समाज को करंगे जागरुक,आंगनवाड़ी कार्यकर्ता की क्या भूमिका है आंगनवाड़ी कार्यकर्ता की भूमिका ग्राम पंचायत स्तर पर बच्चों का संरक्षण उनका विकास, उचित देखभाल करने के लिए परिवारों मागर्दशन और समर्थन व विभिन्न सरकारी योजनाओं को बच्चों के लिए प्रभाव बनाना है। बाल विवाह को रोकने के लिए ग्राम पंचायत की मदद से ले सकते हैं जो लिखित आवेदन दे सकते हैं या फिर चाइल्ड लाइन 1098 या 100 पर पर सूचना दे सकते हैं। बाल विवाह किसी बच्चे स्वास्थ्य और पोषण और शिक्षा के अधिकार से वंचित कर देता है। यदि कम उम्र में विवाह कर देने कारण भी परिवार हिंसा का जन्म होता है। जिसके कारण भी परिवार टूट जाता है। कम उम्र में विवाह करने से बालक और बालिका  दोनों पर शारिरिक, बौद्धिक विकास पर भी प्रभाव पड़ता है। शिक्षा से पूरी तरह वंचित हो जाते, इसलिए बाल विवाह को रोकना चाहिए। सरकार के द्वारा भी बाल विवाह को रोकने के लिए कानून भी बनाया है। बाल विवाह अधिनियम लागू किया इसके अंर्तगत उन लोगों के खिलाफ कठोर उपाय किए गए हैं, जो बाल विवाह को बढ़ावा देते हैं। प्रशिक्षण में संस्था के सदस्य को बाल अधिकारों के बारे में विस्तार से जानकारी दी। जिसमें उन्हें बताया कि संयुक्त राष्ट्र बाल अधिकार समझोते में तय किए गए चार अधिकारों के बताया गया। इन्हीं अधिकारों में ध्यान में रखकर प्रतिभागियों को बाल सरंक्षण के बारे में जानकारी दी गई तथा समुदाय स्तर पर बनाई गई बाल संरक्षण समिति के सदस्यों के चयन और उनके कार्य के बारे में बताया गया कि बाल संरक्षण समिति के सदस्य गांव के प्रत्येक बच्चों के संरक्षण के लिए कार्य करेगा। गांव के बच्चों में से विशेषकर उन बच्चों के लिए कार्य करेंगे। जिनके माता.पिता नहीं है। साथ ही आर्थिक रुप से कमजोर व फुटपाथ पर रहने वाले बच्चे ऐसे बच्चे जो अपने दादा-दादी अथवा नाना नानी के साथ रहते हैं। इन सभी बच्चों को बाल संरक्षण विशेष आवश्यकता होती है। इसलिए ऐसे बच्चों के लिए बाल संरक्षण समिति बनाई जाती है। वहीं विभिन्न विभागों के साथ मिलकर काम किया जा रहा है। पुलिस विभाग महिला बाल विकास, शिक्षा विभाग स्वास्थ्य विभाग के और पंचयात आंगनवाड़ी और एनजीओ के साथ तीन दिवसीय प्रशिक्षण संपन्न हुआ। जनसहयोग विकास संस्था से संस्था प्रमुख प्रवीण गोखले, शाहिद शेख हर्षा परमार, राहुल सूर्यवंशी, अकेश ज्योति, बलराम, राजकिरण, मतीन, लोकेश, अमन, पूजा, कविता लक्ष्मी उपस्थित थे।

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com