Bhopal : ‘‘कुपोषण से सुपोषण की ओर’’ विषय पर तीन दिवसीय कार्यशालाओं का आयोजन

Bhopal : “From malnutrition to well-nutrition” Organization of three-day workshops on the topic

अनोखे लाल दुवेदी भोपाल ।  जैसा कि हमारे प्राचीन ऋषी मुनियों ने यह सिध्दांत प्रतिपादित किया था कि जैसा खाओगे अन्न वैसा रहेगा तन और मन यही सिध्दांत को लेकर संस्था द्वारा मध्यप्रदेश विज्ञान एवं प्राद्यौगिकी परिषद के प्रायोजन एवं स्व. कामता प्रसाद मेमोरियल शिक्षण समिति के सहयोग से ‘‘कुपोषण से सुपोषण की ओर’’ विषय पर तीन दिवसीय कार्यशाला का आयोजन जिला सीहोर स्थित तीन शासकीय विद्यालयो में आयोजित किया गया। किशोरवय छात्राऐं भावी पारिवारिक जीवन की आधारस्तंभ होती हैं । यदि यह छात्राऐं आज सही मात्रा/अनुपात में संतुलित/पौष्टिक आहार के नियमित सेवन से मानसिक एवं शारिरिक रूप से स्वस्थ्य होंगी तो निष्चित रूप से इसका सकारात्मक असर भावी पीढि़यों पर भी होगा। यह बात एकदम सत्य है कि विद्यार्थी जीवन में सीखी गई या आत्मसात की गई अच्छी आदतों का प्रभाव जीवन पर्यन्त तक बना रहता है । इस सोच को विद्यार्थी जीवन में उतारने के उद्देष्य से संस्था द्वारा ‘‘कुपोषण से सुपोषण की ओर’’ विषय पर कार्यशालाओं का आयोजन किया गया ।
कार्यशाला के माध्यम से उपस्थित किशोरवय छात्राओं को संतुलित आहार के नियमित सेवन की महत्ता, वर्तमान एवं भविष्य में स्वास्थ्य के प्रति जागरूक रहने से संबंधित बातें समझाई जाकर 5 विभिन्न प्रकार के संतुलित/पौष्टिक आहार जैसे मिक्स वेज सूप, मिक्स फ्रूट सलाद, अंकुरित आहार, गुड़ सत्तू सोयाबीन दलिया इत्यादि बनाने की विधि से प्रत्यक्ष परिचय कराकर उपस्थित प्रत्येक छात्राओं को सभी 5 प्रकार के संतुलित/पौष्टिक आहारों का सेवन भी कराया गया जिससे वे यह जान सकें कि, यह संतुलित/पौष्टिक आहार उनके वर्तमान एवं भावी स्वस्थ्य जीवन के आधार स्तंभ तो हैं हीं साथ ही साथ यह संतुलित/पोष्टिक आहार बेहद सुस्वादू भी हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button