सर्जरी / 14 साल की बालिका का जन्म से नहीं था मलद्वार और जननांग, डाॅक्टराें की टीम ने आंत काटकर बनाया

एमवायएच में डॉक्टरों की टीम ने 14 साल की बालिका की वेजाइनल एजिनेसिस सर्जरी कर योनि-मार्ग बनाया। यह एक जन्मजात विकृति

शासकीय यशवंत राव होलकर चिकित्सालय (एमवायएच) के पीडियाट्रिक सर्जरी विभाग में एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. अशोक लड्ढा ने बताया कि इस बच्ची को मलद्वार भी नहीं था। जब वह एक दिन की थी, तब माता-पिता हमारे पास लाए थे। एक साल की उम्र तक उसके तीन ऑपरेशन किए गए थे। अब 14 साल की उम्र में उसे दोबारा भर्ती कर आंत काटकर उसका जननांग बनाया गया।

उन्हाेंने बताया कि इस बच्ची का जन्म से ही मलद्वार और जननांग नहीं था। जब यह बच्ची एक दिन की थी तब माता-पिता हमारे पास लाए थे। चिकित्सकों की टीम ने एक साल की उम्र तक उसके तीन ऑपरेशन किए। पहला ऑपरेशन कर पेट के रास्ते मलद्वार बनाया गया। इसके बाद दूसरा ऑपरेशन कर नीचे के रास्ते मलद्वार बनाया गया। तीसरा ऑपरेशन कर पेट के रास्ते बनाई जगह काे बंद किया गया। 14 साल तक वह हमारी निगरानी में थी। उसके माता-पिता उसे फिर से अस्पताल लाए।

उन्होंने बताया कि इसे वेजाइनल एजिनेसिस कहते हैं। प्राकृतिक रूप से उसका यह अंग नहीं बना था और बच्चेदानी अनुपस्थित थी, लेकिन अंडकोश सामान्य था। शरीर में हार्मोन का उत्पादन भी सुचारू था। इसके कारण वह मानसिक दबाव से गुजर रही थी। बच्चेदानी नहीं होने के कारण वह मां नहीं बन सकती। पीडियाट्रिक सर्जरी विभाग प्रमुख डॉ. ब्रजेश लाहोटी के निर्देशन में पेट की आंत काटकर डॉक्टरों की टीम ने यह रास्ता बनाया। हमारे पास कभी ऐसे केस नहीं आए, लेकिन बीते एक माह में यह दूसरा केस है। उधर, ऑपरेशन करने वाली टीम में डॉ. लाहोटी के साथ डॉ. लड्ढा, डॉ. शशिशंकर शर्मा, डॉ. संतोष मोरे, एनीस्थिसिया विभाग प्रमुख डॉ. के.के. अरोरा और डॉ. पारूल जैन का सहयोग रहा। त्योहार के मद्देनजर बालिका को शुक्रवार को ही डिस्चार्ज कर दिया गया।

माहवारी नहीं हो पाने के कारण पेट दर्द की समस्या लेकर आई थी बालिका
इसके पहले जिस बालिका की सर्जरी की गई थी, उसके शरीर में बच्चेदानी थी, जिसके कारण माहवारी हो रही थी, लेकिन शरीर से बाहर जाने के लिए रास्ता नहीं था। डॉक्टरों की टीम ने इमरजेंसी में ऑपरेशन कर उसका भी योनि मार्ग बनाया

होती है। जन्म से ही जननांग के साथ-साथ उसका मलद्वार भी नहीं था, जिसके लिए एक साल की उम्र तक तीन ऑपरेशन किए गए।

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com