बंगाल में हिंसा : भाजपा की विजय रैली में बम फेंका, एसपी श्याम सिंह ने कहा मामले की जांच की जा रही है

कोलकाता. पश्चिम बंगाल में लोकसभा चुनाव के दौरान हिंसात्मक घटनाएं अभी भी जारी हैं। भाजपा ने तृणमूल कांग्रेस पर बीरभूम में आयोजित पार्टी की विजय रैली में बम फेंकने का आरोप लगाया। वहीं, तृणमूल ने भी भाजपा पर दुर्गापुर पार्टी कार्यालय में तोड़फोड़ करने का आरोप लगाया। पंडावेस्वर से तृणमूल विधायक जीतेंद्र तिवारी ने कहा कि भाजपा बंगाल में तांडव कर रही है। उनके कार्यकर्ता राज्यभर में हिंसा फैला रहे हैं। वहीं, बीते एक हफ्ते में बंगाल में दो भाजपा कार्यकर्ताओं की हत्या कर दी गई।

विधायक जीतेंद्र ने कहा, ”अगर भाजपा के कार्यकर्ताओं ने यह सब नहीं रोका तो हम भी शांत नहीं बैठेंगे। हम भी इसका जवाब देंगे। आप (भाजपा) बंगाल में जीते जरूर हैं, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि तृणमूल के ऑफिसों में तोड़फोड़ करेंगे।” इस बार बीरभूम लोकसभा सीट से तृणमूल की उम्मीदवार शताब्दी रॉय जीत दर्ज की।

भाजपा ने बंगाल में 18 लोकसभा सीटें जीतीं

इस बार लोकसभा चुनाव में भाजपा ने बंगाल की 42 में से 18 सीटों पर जीत दर्ज की है। पिछली बार पार्टी को दो ही सीटें मिली थीं। भाजपा की शानदार जीत के लिए बीरभूम के मुरुदेश्वर में सोमवार को कार्यकर्ताओं ने विजय रैली निकाली थी। इसी दौरान अज्ञात हमलावरों ने रैली में बम फेंक दिया, हालांकि इससे कोई जनहानि नहीं हुई। बीरभूम एसपी श्याम सिंह ने कहा है कि मामले की जांच की जा रही है। फिलहाल, किसी को गिरफ्तार नहीं किया गया।

एक हफ्ते में दो भाजपा कार्यकर्ताओं की हत्या
27 मई को उत्तर 24 परगना में अज्ञात लोगों ने भाजपा कार्यकर्ता चंदन शॉ की गोली मारकर हत्या कर दी। 24 मई को भी नादिया में हमलावरों ने गोली मारकर भाजपा कार्यकर्ता संतू घोष की हत्या कर दी थी। 25 साल के संतू कुछ दिन पहले ही तृणमूल कांग्रेस का साथ छोड़कर भाजपा में शामिल हुए थे। बंगाल के भाजपा प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष ने तृणमूल कार्यकर्ताओं पर हिंसा फैलाने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा था कि तृणमूल के गुंडे विपक्ष के नेताओं और उम्मीदवारों पर लगातार हमला कर रहे हैं।

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com