फरीदाबाद में वोटरों को प्रभावित करने के आरोप में गिरफ्तार पोलिंग एजेंट

सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल होने के बाद फरीदाबाद में एक पोलिंग एजेंट को गिरफ्तार किया गया है। हिन्दुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, यह पोलिंग एजेंट वोट डालने आए लोगों को प्रभावित करने की कोशिश कर रहा था।  चुनाव आयुक्त अशोक लवासा ने पुष्टि की है कि रविवार दोपहर को पोलिंग एजेंट को गिरफ्तार किया गया था और चुनाव आयोग इस मामले की जांच कर एक रिपोर्ट भी देगा।

लवासा ने ट्वीट किया है, जिसमें डीईओ फरीदाबाद ने बताया कि ऑबजर्वर संजय कुमार ने पूरे मामले की जांच की। वीडियो में व्यक्ति पोलिंग एजेंट है जिसे दोपहर में ही गिरफ्तार किया गया। एफआईआर दर्ज की गई है। चुनाव आयुक्त ने कहा कि पूरी रिपोर्ट मिलने के बाद वह आरोपी के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि पोलिंग स्टेशन की व्यापक जांच होगी।

सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल होने के बाद फरीदाबाद में एक पोलिंग एजेंट को गिरफ्तार किया गया है। हिन्दुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, यह पोलिंग एजेंट वोट डालने आए लोगों को प्रभावित करने की कोशिश कर रहा था। फरीदाबाद में जिला चुनाव कार्यालय ने कहा कि मतदान से समझौता नहीं किया गया था और शीघ्र कार्रवाई की गई। एफआईआर दर्ज की गई है और आरोपी सलाखों के पीछे है। ऑब्जर्वर ने इस मामले की व्यक्तिगत रूप से लोगों से पूछताछ की और पाया कि मतदान कभी प्रभावित नहीं हुआ।

वीडियो में दिख रहा है कि नीली टीशर्ट पहने पोलिंग एजेंट मतदान केन्द्र में वोट डालने पहुंची महिलाओं के वोट को प्रभावित करने की कोशिश कर रहा है। इस वीडियो में एक महिला जैसे ही वोट डालने पहुंचती है तो पोलिंग एजेंट ईवीएम के पास पहुंचता है और मशीन में बटन दबाते हुए किसी पार्टी के चिन्ह की ओर इशारा करता दिखाई देता है। इसके बाद वह वापस अपनी सीट पर बैठ जाता है। जब दूसरी महिला वोट डालने ईवीएम के पास पहुंचती है तो वह यह हरकत दोबारा करता है। यह वीडियो वारयल होने के बाद कई लोगों ने यह वीडियो चुनाव आयोग को टैग किया है।  फरीदाबाद में मतदाता 64.48% रहा। केंद्रीय मंत्री कृष्णपाल गुर्जर फरीदाबाद लोकसभा सीट से चुनावी मैदान में हैं।

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com