बीजेपी के इन सांसदों का अपनों में ही विरोध, टिकट कटवाने भोपाल पहुंचे

बीजेपी के इन सांसदों का अपनों में ही विरोध, टिकट कटवाने भोपाल पहुंचे

 

भोपाल| लोकसभा चुनाव के लिए बीजेपी में उम्मीदवारों पर मंथन शुरू हो गया है| आज भोपाल में भाजपा की प्रदेश चुनाव समिति की बैठक हो रही है। बैठक में सभी 29 सीटों पर दावेदारों के नामों पर चर्चा होगी और समिति फायनल नाम तय करेगी। जिसपर केंद्रीय चुनाव समिति अंतिम मुहर लगाएगी। वहीं टिकट के लिए जहां दावेदारों का भोपाल में जमावड़ा लगा हुआ है, वहीं टिकट कटने के संकेत मिलते ही सांसदों ने भी भोपाल की दौड़ लगा दी है| लेकिन कुछ सांसदों को अपने ही क्षेत्र में अपने ही लोगों का भारी विरोध का सामना करना पड़ रहा है, जो उनके टिकट कटवाने के लिए भोपाल पहुँच गए हैं|

दरअसल, सर्वे और फीडबैक में अब तक एक दर्जन से अधिक सांसदों की स्तिथि ख़राब बताई गई है, जिनका टिकट कटना तय माना जा रहा है| इसमें कई दिग्गज नेता भी शामिल हैं| वहीं कुछ सांसदों को भाजपा नेताओं ने ही विरोध किया है| टीकमगढ़ से सांसद और केंद्रीय मंत्री डॉ. वीरेंद्र कुमार खटीक के खिलाफ  छतरपुर और टीकमगढ़ जिले के सात भाजपा नेता लामबंद हो गए हैं। इनमें पूर्व मंत्री और विधायक भी शामिल हैं। वहीं राजगढ़ संसद रोडमल नागर के खिलाफ भी एक बार फिर विरोध सामने आया है| विरोध जताने बड़ी संख्या में कार्यकर्ता पार्टी कार्यलय पहुँच गए| कार्यकर्ताओं ने रोडमल को टिकट दिए जाने का विरोध किया है। इन कार्यकर्ताओ ने पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से गुहार लगाते हुए कहा  है किसी को भी टिकट दे दें लेकिन रोडमल को न टिकट न दिया जाए| कार्यकर्ताओं ने सांसद द्वारा क्षेत्र में काम नहीं करने के आरोप लगाए हैं| इससे पहले राजगढ़ में एक कार्यक्रम में शिवराज के सामने सांसद के खिलाफ कार्यकर्ताओं ने विरोध जताया था और ‘मोदी तुझसे बेर नहीं रोडमल तेरी खेर नहीं’ के नारे लगाए थे|

केंद्रीय मंत्री डॉ. वीरेंद्र कुमार खटीक के खिलाफ छतरपुर और टीकमगढ़ जिले के सात भाजपा नेता लामबंद हो गए हैं। इनमें पूर्व मंत्री और विधायक भी शामिल हैं। इन नेताओं ने रविवार को पूर्व विधायक केके श्रीवास्तव के फॉर्म हाउस पर बैठक में तय किया कि सागर से आकर टीकमगढ़ में सांसद बने वीरेंद्र का विरोध किया जाएगा।  ये सभी नेता पार्टी के शीर्ष नेताओं से आग्रह करेंगे कि टीकमगढ़ से वीरेंद्र के स्थान पर दूसरे नेता को प्रत्याशी बनाया जाए। छतरपुर-टीकमगढ़ के इन नेताओं ने साफ कहा कि किसी भी स्थानीय उम्मीदवार को टिकट मिला तो ये उसका समर्थन करेंगे। उन्होंने टीकमगढ़ दौरे पर पहुंचे पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के सामने भी अपना विरोध दर्ज कराया है।  विरोध करने वाले नेताओं में पूर्व मंत्री ललिता यादव, जतारा विधायक हरिशंकर खटीक, पूर्व बिजावर विधायक गुड्डन पाठक, टीकमगढ़ के पूर्व विधायक केके श्रीवास्तव, बुंदेलखंड विकास प्राधिकरण के पूर्व अध्यक्ष बेबी राजा, चंदला के पूर्व विधायक आरडी प्रजापति, टिकट की रेस में चल रहे टीकमगढ़ के नेता पर्वतलाल अहिरवार शामिल हैं। स्थानीय उम्मीदवार को लेकर हो रहा विरोध करने वाले नेता भी टिकट की दावेदारी कर रहे हैं|

Source:Agency

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com