अधिकारी बोला – मेरे पास 600 एकड जमीन है, क्या मैं करूगा भ्रष्टाचार ?

अधिकारी बोला – मेरे पास 600 एकड जमीन है, क्या मैं करूगा भ्रष्टाचार ?

अभय बानगात्रीनरसिंहपुर– भ्रष्टाचार की चासनी में डूबे दस्तावेजों को जब आप सूचना के अधिकार अधिनियम के तहत प्राप्त करना चाहते हैं या देखना चाहते हैं तो उन दस्तावेजों तक पहुंचने में आपको ऐडी चोटी का जोर लगाना पडता है,
       ऐसा ही कुछ नरसिंहपुर के RTI  कार्यकर्ता कृष्णकांत कौरव के साथ हो रहा है जो लोक सूचना अधिकारी, महिला सशक्तिकरण अधि. नरसिंहपुर से दस्तावेज प्राप्त करने दो साल से कार्यालयों के चक्कर लगा रहा है , कृष्णकांत द्वारा बताया गया कि मेरा आवेदन पढने के बाद लोक सूचना अधिकारी, जिला महिला सशक्तिकरण अधि. नरसिंहपुर द्वारा मझसे कहा गया कि “मेरे पास 600 एकड जमीन हैं क्या मैं भ्रष्टाचार करूगा” और मुझे धमकाया गया.
      आवेदक को जब जानकारी देने से मना कर दिया गया, तब उसने व्यथित होकर अपर कलेक्टर महोदय को अपीलीय आवेदन दिनांक 12.04.2016 को दिया जिसके फलस्वरूप दिनांक 29.06.2016 को आवेदक के पक्ष में आदेश पारित हुआ जिसमें तत्काल निशुल्क आवेदक को जानकारी उपलब्ध कराने को कहा, आदेश पारित होने की अवधि में आवेदक हर पेशी में उपस्थित रहा, परंतु अनावेदक महिला सशक्तिकरण अधि. लगभग 5 पेशीयों में लगातार अनुपस्थित रहा,
      हैरान करने वाली बात यह है कि अपर कलेक्टर न्यायालय के आदेश को बिल्कुल भी तवज्जों नहीं दी गई, इसके बावजूद भी उस अधिकारी के विरूद्ध कोई भी अनुशासनात्मक व दणदात्मक कार्रवाई ना किया जाना भी उच्च अधिकारियों पर सवाल खडे कर रहे हैं.
(इनका कहना)-
व्यक्तिगत व गोपनीय जानकारी खातों से संबंधित हम आवेदक को नहीं दे सकते.
निरंजन प्रताप सिंह, लोक सूचना अधिकारी, महिला सशक्तिकरण अधिकारी, नरसिंहपुर
इनका कहना- जो दस्तावेज हम मांग रहे हैं उनमें लाखों का भ्रष्टाचार है, इस वजह से नहीं दिये जा रहे.
कृष्णकांत कौरव- आर. टी. आई. कार्यकर्ता
Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com