BHEL मैनेजमेंट के सहयोग से थ्रिफ्ट सोसाइटी कर रही गुंडगर्दी

BHEL मैनेजमेंट के सहयोग से थ्रिफ्ट सोसाइटी कर रही गुंडगर्दी

भोपाल। बीएचईई थ्रिफ्ट एंड क्रेडिट को-आॅपरेटिव सोसाइटी गैर बीएमएस मेंबर्स की गैरकानूनी तरीके से मेंबरशिप खत्म करने में BHEL का फाइनेंस डिपार्टमेंट पूरा सहयोग कर रहा है।

इस मामले की पड़ताल की गई, तो यह सामने आया है कि अगर फाइनेंस डिपार्टमेंट नियमों से चले तो, थ्रिफ्ट सोसाइटी किसी भी सदस्य की मेंबरशिप गैरकानूनी तरीके से खत्म नहीं कर सकती है।

जब कोई BHEL कर्मचारी थ्रिफ्ट सोसाइटी की मेंबरशिप लेता है, तो वह फाइनेंस डिपार्टमेंट को अपनी सैलरी से मेंबरशिप फीस काटने का निर्देश देता है। यह निर्देश कर्मचारी थ्रिफ्ट सोसाइटी के माध्यम से देते हैं।

कर्मचारी के इन निर्देश के मुताबिक फाइनेंस डिपार्टमेंट उनकी सैलरी से मेंबरशिप फीस के रूप में हर महीने पैसे काटकर थ्रिफ्ट सोसाइटी के खाते में जमा करवाता है।

इसी तरह अगर फाइनेंस डिपार्टमेंट थ्रिफ्ट सोसाइटी के निर्देश पर अगर किसी कर्मचारी की मेंबरशिप उसकी सैलरी में से काटना बंद करता है, तो उसे नियमानुसार कर्मचारी की मंजूरी लेना चाहिए। मगर फाइनेंस डिपार्टमेंट सभी नियमों को ताक में रखकर कर्मचारियों से बिना पूछे उसकी सैलरी से मेंबरशिप काटना बंद कर देता है।

फाइनेंस डिपार्टमेंट के एक सीनियर अफसर ने  माना कि यह एक गलत प्रैक्टिस है। इस गलत प्रैक्टिस को तुरंत बंद होना चाहिए, क्योंकि इससे कर्मचारियों के हित जुड़े हुए हैं। दूसरा इस गलत प्रैक्टिस से थ्रिफ्ट सोसाइटी द्वारा अपने मेंबर्स की एकतरफा सदस्यता खत्म करने में इस्तेमाल हो रहा है।

BHEL प्रवक्ता ने यह माना कि कर्मचारी के बगैर पूछे उसकी सैलरी से मेंबरशिप फीस काटना बंद करने की प्रथा प्रचलित है। मगर प्रवक्ता यह नहीं बता पाए कि इस गलत प्रैक्टिस को मैनेजमेंट कब बंद करेगा, जिससे थ्रिफ्ट सोसाइटी इसका गलत फायदा नहीं उठा पाए।
Source:Agency

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com