धूमधाम से मनेगा जिला बनने के ढाई दशक का जश्र, मुख्यमंत्री हो सकते हैं शामिल

🔴 ज्ञान, गीत, संगीत, सांस्कृतिक, पर्यावरण संरक्षण को लेकर होंगे कार्यक्रम

✍️दैनिक हमारा मैट्रो, बड़वानी

वर्ष 1998 को खरगोन जिले से विभाजित होकर बड़वानी जिला अस्तित्व में आया था। अब उसके ढाई दशक के सफर का जश्न जिले में सप्ताह भर तक मनाया जाएगा। इसको लेकर सोमवार को पीजी कॉलेज में आवश्यक बैठक हुई। इसमें  कैबिनेट  मंत्री, राज्यसभा सांसद सहित अधिकारी-कर्मचारी, गणमान्य व जनप्रतिनिधियों ने अपने-अपने सुझाव बताए। इसके तहत जिला मुख्यालय के पीजी कॉलेज ग्राउंड पर मुख्य आयोजन होगा।
बैठक में कैबिनेट मंत्री पटेल ने कहा कि बड़वानी। बड़वानी गौरव महोत्सव में मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान को शामिल होने का न्योता दिया है। जिले के स्थापना दिवस पर सभी के सहयोग से ऐसा आयोजन करेंगे, जैसा पहले नहीं हुआ है। राज्यसभा सांसद डॉ. सोलंकी ने कहा कि इसमें समाज के सभी वर्गों की सहभागिता सुनिश्चित की जाए। जल संरक्षण व पौधारोपण को सम्मिलित किया जाए। उत्सव प्रत्येक गांव तक पहुंचे और जिले के सभी नागरिक खुशियां मनाएं। निमाड़ी भजन, मांदल वादन, ढोल वादन प्रतियोगिताएं हो। वहीं कलेक्टर शिवराजसिंह वर्मा ने आयोजन की रूपरेखा प्रस्तुत बताई। उन्होंने कहा कि कॉलेज ग्राउंड पर मुख्य कार्यक्रम स्थल पर आकर्षक लाइटिंग से साज सज्जा की जाएगी। ढाई दशक में जिले की उपलब्धियां प्रदर्शनी में प्रदर्शित की जाएगी। फूड जोन में जिले के व्यंजनों को शामिल करेंगे। खेती-किसानी से लेकर सांस्कृतिक, आदिवासी संस्कृति व निमाड़ी संस्कृति को प्रदर्शित किया जाएगा।

🔴 राजघाट पर सांस्कृतिक कार्यक्रम का सुझाव

पुलिस अधीक्षक दीपक कुमार शुक्ला ने कहा कि राजघाट पर सांस्कृतिक आयोजन रखे जाएं। जिपं सीईओ अनिल डामोर, अपर कलेक्टर शालिनी श्रीवास्तव, एसडीएम घनश्याम धनगर, सीएमओ केएस डुडवे, पूर्व कुलपति डॉ. शिवनारायण यादव, प्राचार्य डॉ. एनएल गुप्ता, प्राचार्य डॉ. पी गौतम आदि ने अपने महत्वपूर्ण सुझाव दिए।

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com