बच्चों के वैक्सीनेशन में ढीलपोल, सभी बीईओ व बीआरसी का वेतन रोकने के निर्देश दिए

🔴 बच्चों के वैक्सीनेशन में ढीलपोल, सभी बीईओ व बीआरसी का वेतन रोकने के निर्देश दिए
🔵 कलेक्टर ने नए वित्तीय वर्ष की प्रथम समय-सीमा बैठक में अपनाया कड़ा रुख, कई कर्मियों को दिया शोकाज नोटिस

@इम्तियाज खान intu
बड़वानी। जिले में शुरू हुए 12 से 15 आयु वर्ग के बच्चों का वैक्सीनेशन रफ्तार नहीं पकड़ पा रहा है। इस वैक्सीनेशन की स्थिति न सुधरने पर संबंधित अधिकारियों पर कलेक्टर ने सख्त रुख अपनाया है। मंगलवार को हुुई समय-सीमा बैठक के दौरान 12 से 15 आयु वर्ग के बच्चों को कोरोना वैक्सीनेशन के कार्य की समीक्षा की।

इस दौरान अब तक मात्र 26 प्रतिशत ही प्रगति आने पर कड़ी नाराजगी जताई। कलेक्टर ने सख्त रुख अख्तियार करते हुए जिले के सभी बीईओ और बीआरसी का वेतन आहरण रोकने के निर्देश दिए है। साथ ही शिक्षा व स्वास्थ्य विभाग के जिला अधिकारियों को भी चेताया कि उक्त स्थिति न सुधरने पर जिला अधिकारियों का भी वेतन रोकने की कार्रवाई की जाएगी।

लापरवाही बरतने पर शोकाज नोटिस

वित्तीय वर्ष की प्रथम समय-सीमा बैठक में कलेक्टर ने ऐसे ग्राम पंचायत सचिव और जीआरए को शोकाज नोटिस देने के निर्देश दिए, उन्होंने आयुष्मान कार्ड बनाने में लापरवाही प्रदर्शित की है। साथ ही ऐसे शिक्षण संस्था के अधिकारियों का वेतन रोकने का आदेश दिया है, जिन्होंने मशीन प्राप्त होने के पश्चात भी अपने संस्थान के विद्यार्थियों का आधार कार्ड अपडेशन करवाकर आयुष्मान कार्ड बनाने में कोताही दिखाई है।

सभी जनपद सीईओ को नोटिस जारी

साथ ही कलेक्टर ने ग्राम पंचायतों में ओएफसी केबल डालने और उससे कनेक्शन लेकर सीएससी सेंटर प्रारंभ करवाने के कार्य में लापरवाही दर्शाने पर जिले के सभी जनपदों के सीईओ को भी शोकाज नोटिस देने के निर्देश दिये है।

अंजड़ तहसीलदार व मंडी सचिव को नोटिस

कलेक्टर वर्मा ने मंगलवार को आयोजित समय-सीमा बैठक के दौरान पूर्व में दिए गए निर्देशों के पालन प्रतिवेदन की समीक्षा के दौरान भी कड़ा रूख अख्तियार किया। इस दौरान पूर्व निर्देशानुसार किसानों की बकाया राशि वापस न करवाने पर तहसीलदार अंजड़ व मंडी सचिव अंजड़ को शोकाज नोटिस जारी कर निर्देशित किया कि इस कार्य में फिर लापरवाही प्रदर्शित करने पर दोनो अधिकारियों पर ओर कड़ी कार्यवाही की जाएगी।

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com