बांके बिहारी मंदिर में मनाया फाग उत्सव

✍️इम्तियाज खान intu
बड़वानी। शहर के मध्य स्थित बांके बिहारी मंदिर में बीसा नीमा समाज द्वारा धुलेंडी के दिन फाग उत्सव मनाया। इस मौके पर पुष्टिमार्गीय मंदिर व ब्रज में बसंत पंचमी से धुलेंडी तक लगातार 40 दिनों तक होरी मनाई जाती है। इसमें पैतीस दिनों तक गुलाल और फूल से तथा अंतिम पांच दिन एकादशी से पड़वा तक रंगों से होली खेली गई।
समाज के आनंद गुप्ता ने बताया कि इस उत्सव का एक और भाव है कि वसंत-पंचमी से डोलोत्सव तक व्रज भक्त प्रभु के साथ परस्पर सख्य भाव से होली खेलते हैं। व्रज राजकुमार प्रभु को प्रभु ना मानते हुए अपने समान मान उनके साथ झकझोरी करते है। फगवा मांगते हैं, ओढ़निया ओढ़ के और विविध स्त्री वेश पहनाकर अपने साथ नचाते हैं। उन दिनों में ईश्वर भाव नहीं रहता अत: नंदराय जी आज के दिन प्रभु को पुन: पाट पर बिठाकर पूर्ववत नंदकुमार, .व्रज राजकुमार के रूप में स्थापित करते हैं। इस भाव से आज का यह उत्सव मनाया गया। इस मौके पर समाज के सचिव निलेश गुप्ता व आनंद गुप्ता ने रसिया के पदों का गान किया। इस अवसर पर महिलाओं ने मंत्र मुग्ध होकर नृत्य आनंद लिया। कोषाध्यक्ष विजय गुप्ता, डॉ. सुहास यादव, अक्षय गुप्ता, नीरज गुप्ता ने बताया कि इस मौके पर बड़ी संख्या में समाजजन शामिल हुए। समापन अवसर पर ठंडाई वितरण किया गया।

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com