कृषि मंत्री ने मंडी सचिव पर उतारा गुस्सा, कहा इसे भगाओ यहां से

कृषि मंत्री ने मंडी सचिव पर उतारा गुस्सा, कहा इसे भगाओ यहां से

 

 

मध्यप्रदेश के कृषि मंत्री गौरीशंकर बिसेन एक बार फिर आपा खो बैठे। इस बार उनका गुस्सा सिवनी की एक लेडी ऑफीसर पर निकला, मंत्री ने मंच से ही उसे बेइज्जत कर भगाने के लिए कह दिया। मंत्री के व्यवहार से आहत ये ऑफिसर खुद मंत्री का कार्यक्रम छोड़ कर चली आई। ऑफिसर ने इसे महिलाओं का अपमान बताते हुए कहा कि वह महिला सम्मान के लिए संघर्ष करेंगी।

सिवनी में छपारा की सिंचाई कॉलोनी में रविवार को कृषि संगोष्ठी में बतौर मुख्य अतिथि मंत्री बिसेन पहुंचे थे। मंच पर पहुंचते ही बिसेन ने माइक संभाला और लोगों को मोबाइल बंद रखने को कह दिया।
मंच पर पहुंचते ही मंत्री बिसेन ने पंडाल में मौजूद किसानों और जन प्रतिनिधियों को अपने अपने मोबाइल बंद करने की सलाह दी, और कहा कि अगर 1 घंटा मोबाइल बंद रख लेंगे तो कोई प्रलय नहीं आ जाएगा।
इसके बाद भी मंडी सचिव अर्चना सिंह ठाकुर वहां पर खड़ी रह गईं। मंत्री बिसेन ने अर्चना सिंह को खड़े देखा ते मंच से झल्लाकर बोले, ‘यह कौन है, इसे यहां से भगाओ, जाओ यहां से’।
मंत्री के बिगड़े बोल सुनते ही संगोष्ठी स्थल पर सन्नाटा छा गया। इसके बाद अर्चना सिंह आयोजन चलता छोड़ वहां से चली आईं, और मंत्री सरकारी योजनाओं के गुणगान करने में जुट गए।
मंत्री ने किया है महिला की अपमान
मंडी सचिव अर्चना सिंह ठाकुर ने कहा उन्हें बिना गलती कृषि मंत्री ने लताड़कर बेइज्जत किया। अर्चना सिंह ने बताया कि उन्हें स्वागत करने के लिए मंच पर बुलाया गया था। भाजपा जिला अध्यक्ष नीता पटेरिया के स्वागत के बाद मंच से एक सब-ऑर्डिनेट से कुर्सी लाने के लिए कहा था।
कुर्सी आती उससे पहले तब कृषि मंत्री ने उन्हें बैठने व शांत रहने के लिए डांटते हुए कहा तो वह चुपचाव खड़ी रह गईं। इस कृषि मंत्री ने पब्लिकली उन्हें भगाने के लिए कह दिया।
मंडी सचिव अर्चना ठाकुर का कहना है, ‘मुझे बेइज्जत कर भगाया गया है। मंत्री को कोई अधिकार नहीं है कि किसी महिला को इस तरह से भगाए, अपने सम्मान के लिए मैं संघर्ष करूंगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com