इस 8 साल के राजा को है अपने मां-बाप की तलाश

आठ साल के बच्चे को खाने-पीने और खेलने-कूदने के अलावा किसी अन्य बात की

फिक्र नहीं होती, मगर इस उम्र के राजा के ऊपर मुसीबतों का पहाड़ टूट पड़ा है। उसे ना तो खाना-पीना अच्छा लग रहा है, ना खेलना कूदना। वह अपने माता-पिता की फोटो सीने से लगाए हर समय बिलखता रहता है। हर किसी को वह फोटो दिखाकर रोते हुए वह बस यही गुहार लगाता है कि किसी तरह माता-पिता से मिलवा दे। राजा 7 सितंबर को फरीदाबाद में लावारिस अवस्था में भटकता मिला था। किसी राहगीर ने उसे पुलिस को सौंप दिया। इस समय उसे खेड़ी पुल के पास स्थित कर्ममार्ग शेल्टर होम में रखा गया है। फरीदाबाद की मिसिंग सेल उसके माता-पिता की तलाश में जुटी हुई है।

मिसिंग सेल प्रभारी नरेंद्र शर्मा ने बताया कि बच्चा अपना नाम राजा, पापा का नाम संजय और मम्मी का नाम रिंकी बताता है। उसे अपना घर का पता मालूम नहीं है। यह भी नहीं मालूम वह किस जिले या शहर का रहने वाला है। उसने बताया है कि उसकी मम्मी किसी मैडम के पास लाल रंग की कार चलाती है।

उसने बताया है कि पापा उसे कार में बिठाकर लाए थे और यहां छोड़कर चले गए। शेल्टर होम में माता-पिता को याद कर वह हर समय रोता रहता है। शेल्टर हाेम में अन्य बच्चों के साथ वह घुम-मिल भी नहीं रहा है। खाता-पीता भी कम है। जो भी उससे मिलने जाता है, वह माता-पिता की फोटो दिखाकर बिलखने लगता है और किसी तरह उन तक पहुंचाने की मिन्नत करता है।

मिसिंग सेल के अनुसार यह तय है कि बच्चा फरीदाबाद का रहने वाला नहीं है, क्योंकि उन्होंने और उनकी टीम ने यहां सभी थाना चौकियों के माध्यम से पड़ताल कर ली है। बच्चा किसी अन्य शहर का रहने वाला है। यह भी अनुमान है कि उसके माता-पिता के बीच झगड़ा हुआ, जिसके बाद उसे जानबूझकर लावारिस छोड़ दिया गया। संयोग से माता-पिता की फोटो उसकी जेब में रह गई।

नरेंद्र शर्मा (प्रभारी  मिसिंग सेल फरीदाबाद) का कहना है कि अगर बच्चा गलती से बिछड़ता तो उसके माता-पिता फरीदाबाद पुलिस से जरूर संपर्क करते और सूचना देते। हम सोशल मीडिया सहित अन्य माध्यमों से बच्चे

की तलाश में जुटे हैं। उसके माता-पिता को ढूंढ़कर ही दम लेंगे। लोगों से भी अपील की गई है कि राजा की फोटो सोशल मीडिया पर ज्यादा से ज्यादा शेयर करें, जिससे उसके मां-बाप को तलाशा जा सके।

Posted by :- Vikash kaushik

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com