किम की निगरानी में एक नए ‘रॉकेट लॉन्चर’ का परीक्षण किया

 उत्तर कोरिया ने एक बार फिर अपने नेता किम की निगरानी में एक नए ‘रॉकेट लॉन्चर’ का परीक्षण किया है। किम के इस कदम के साथ ही परमाणु निरस्त्रीकरण पर किसी भी तरह की वार्ता शुरू होने की उम्मीदों पर भी पानी फिर गया है। दक्षिण कोरियाई सेना ने कहा था कि ऐसा लगता है कि उत्तर कोरिया ने कम दूरी वाली 2 बैलिस्टिक मिसाइलों का शनिवार को परीक्षण किया है, लेकिन उत्तर कोरियाई मीडिया ने कहा है कि ‘सुपर-लार्ज मल्टीपल रॉकेट लॉन्चर’ का परीक्षण किया गया।

अमेरिका और दक्षिण कोरिया के बीच संयुक्त अभ्यास के खिलाफ उत्तर कोरिया लगातार पिछले कुछ समय से परीक्षण कर रहा है। यह संयुक्त अभ्यास करीब एक सप्ताह पहले खत्म हो हुआ। देश की आधिकारिक समाचार एजेंसी ‘कोरियन सेंट्रल न्यूज एजेंसी’ के अनुसार किम ने कहा, ‘नई विकसित’ प्रणाली एक ‘बड़ा हथियार’ है साथ ही उन्होंने इसे बनाने वाले वैज्ञानिकों की भी सराहना की। KCNA ने कहा, किम ने यह भी कहा कि ‘लगातार बढ़ते सैन्य खतरों और शत्रुतापूर्ण ताकतों के दबाव से पूरी तरह निपटने के लिए’ देश को हथियार विकसित करते रहने की जरूरत है।

कुछ दिनों के अंदर की कई मिसाइलों की टेस्टिंग
दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति भवन ‘ब्लू हाउस’ ने कहा कि वह उत्तर कोरिया के हथियारों के परीक्षण के मद्देनजर राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद की एक बैठक करेगा। अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ पर निशाना साधने के बाद यह प्रक्षेपण किया गया है। अमेरिकी राजनयिक ने कहा था कि उत्तर कोरिया के पूरी तरह परमाणु निरस्त्रीकरण करने तक अमेरिका उस पर ‘कठिन’ प्रतिबंध जारी रखेगा। इसके बाद प्योंगयांग ने पोम्पिओ को ‘बेहद जहरीला’ कहा था। अमेरिका और दक्षिण कोरिया की सेना के संयुक्त अभियान के खिलाफ उत्तर कोरिया ने हालिया सप्ताह में कम दूरी की कई मिसाइलें दागी थीं।

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com