लेकिमा तूफान के कारण दक्षिण भारत में भारी बारिश, केरल में 2 दिन में 80 जगह भूस्खलन

महासागर क्षेत्र में उठे दो तूफानों लेकिमा और क्रोसा के कारण देश के दक्षिणी राज्यों में भारी बारिश हो रही है। मौसम वैज्ञानिकों ने यह दावा किया है। उनका कहना है कि पहले पश्चिम प्रशांत महासागर का भारतीय क्षेत्रों पर प्रभाव सीमित था। अब यह हिंद महासागर को डंप यार्ड के तौर पर इस्तेमाल करने लगा है। इसी का असर केरल, कर्नाटक और तमिलनाडु में भारी बारिश के रूप में दिख रहा है। केरल के 8 जिलों में भारी बारिश के कारण 48 घंटे में भूस्खलन की 80 घटनाएं हुई हैं। जबकि कर्नाटक में पिछले 5 दिनों में भूस्खलन के 30 हादसे हुए हैं।

केरल के कोझिकोड में बाढ़ से बचने के लिए टंकी का सहारा।

कर्नाटक: 23 तक 10 ट्रेनें नहीं चलेंगी

केरल में भारी बारिश के कारण 15.6 लाख घरों की बिजली कट गई है। जबकि 23 ट्रेनें रद्द और छह बड़े सड़क मार्ग बंद हैं। भूस्खलन का असर इतना है कि कर्नाटक में 23 अगस्त तक 10 ट्रेनें नहीं चलाई जाएंगी। राज्य के 17 जिले बाढ़ से प्रभावित हैं। यहां तीन दिन और स्कूल बंद रहेंगे।

देश: 7 राज्यों में बहुत भारी बारिश हुई

सात राज्यों में 24 घंटे में बहुत भारी, 2 में भारी, 5 में सामान्य और 16 में बहुत कम बारिश हुई। केरल में सबसे ज्यादा औसतन 101.1 मिमी बारिश हुई। अगले 24 घंटे में तमिलनाडु में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है।

गुजरात का मोरबी

गुजरात के मोरबी जिले में रेस्क्यू टीम ने 47 छात्राओं, 6 शिक्षिकाओं को बचाया।

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com