शाहबेरी में अवैध बिल्डिंग बनाने वाले बिल्डरों की तलाश शुरू

शाहबेरी मामले में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा कड़ा रुख अख्तियार करने के बाद पुलिस-प्रशासन ने उन बिल्डिरों और प्रापर्टी डीलरों को चिह्नित करने की तैयारी शुरू कर दी है जिन्होंने अवैध जमीनों पर गैरकानूनी तरीके से बिल्डिंगों का निर्माण करावाया है। कार्रवाई करते हुए पुलिस ने 250 से अधिक बिल्डर व प्रापर्टी डीलरों को चिह्नित किया है। इसमें तीस मुख्य आरोपित हैं। एक मुख्य आरोपित 25 हजार के इनामी शहाबुद्दीन को पुलिस ने एक दिन पहले ही गिरफ्तार किया है। अन्य की गिरफ्तारी के लिए पुलिस ने तलाश शुरू कर दी है।

सभी मुख्य आरोपितों पर राष्ट्रीय सुरक्षा अधिनियम (रासुका) की कार्रवाई होगी। बता दें कि पिछले वर्ष 17 जुलाई को शाहबेरी में दो अवैध इमारत जमींदोज हो गई थीं। जिसमें नौ लोगों की मौत हो गई थी। जिसके बाद पुलिस-प्रशासन ने शाहबेरी में अवैध बिल्डिंग बनाने वालों के खिलाफ कार्रवाई शुरू की थी। एसपी देहात रणविजय सिंह ने बताया शाहबेरी में किसी भी प्रकार के निर्माण पर पूरी तरह से रोक लगा दी गई है। पुलिस टीम समय-समय पर क्षेत्र में गश्त कर रही है। शाहबेरी में कहीं पर भी अवैध निर्माण की शिकायत मिलने पर कार्रवाई की जाएगी।

उन्होंने कहा कि शाहबेरी में अवैध बिल्डिंग बनाने वालों की पहचान की जा रही है। जल्द ही उनकी गिरफ्तारी की जाएगी। उन्होंने बताया शहर में सुरक्षा व्यवस्था के संबंध में ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालक अधिकारी नरेंद्र भूषण से मुलाकात की गई। शहर में विभिन्न स्थानों पर सीसीटीवी कैमरे लगवाने, बंद पड़ी स्ट्रीट लाइट को सही कराने, विभिन्न स्थानों पर जांच के लिए बैरियर व अन्य चीजों की मांग की गई है। जल्द ही शहर में उन स्थानों का चयन किया जाएगा जो शहर के मुख्य प्वाइंट हैं। जिसके बाद प्राधिकरण की मदद से वहां पर सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे।

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com