तेदेपा के 4 राज्यसभा सांसद भाजपा में शामिल, उपराष्ट्रपति को संसदीय दल के विलय का पत्र दिया

तेलुगु देशम पार्टी (तेदेपा) के चार राज्यसभा सांसद वाईएस चौधरी, टीजी वेंकटेश और सीएम रमेश गुरुवार को भाजपा में शामिल हो गए। कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने उन्हें पार्टी की सदस्यता दिलाई। तेलंगाना से तेदेपा सांसद मोहन राव भी जल्द ही भाजपा में शामिल हुए। तीनों सासंदों ने उपराष्ट्रपति और राज्यसभा के सभापति वेंकैया नायडू से मुलाकात की। तीनों ने राज्यसभा में तेदेपा संसदीय दल को भाजपा में विलय करने का पत्र नायडू को सौंपा। पत्र पर मोहन राव के भी हस्ताक्षर थे। बताया जा रहा है कि राव अभी बीमार हैं। राज्यसभा में चंद्रबाबू नायडू की पार्टी के 6 सांसद हैं।

भाजपा में शामिल होने से पहले टीजी वेंकटेश ने खुद को पुराना भाजपा कार्यकर्ता बताया। तेदेपा सासंदीय दल के नेता वाईएस चौधरी मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में विज्ञान एवं प्रद्यौगिकी राज्यमंत्री रह चुके हैं। तेदेपा नेताओं को भाजपा में शामिल कराने के बाद कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि हमने विलय के प्रस्ताव को स्वीकार कर लिया है। वहीं, तेदेपा संसदीय दल के नेता वाईएस चौधरी ने कहा कि हम देश के विकास में योगदान देना चाहते हैं। इसलिए हमने मोदी के नेतृत्व में काम करने का फैसला किया है।

चंद्रबाबू बोले- हमारे लिए इस तरह का संकट नया नहीं

वहीं, इस पूरे मामले पर तेदेपा प्रमुख चंद्रबाबू नायडू ने कहा कि भाजपा से हमारी लड़ाई केवल विशेष राज्य के दर्जे की मांग को लेकर है। उन्होंने कहा कि राज्य के हित के लिए हमने केंद्रीय मंत्रिमंडल छोड़ा था। इस तरह का संकट हमारी पार्टी के लिए नया नहीं है। हमारे नेताओं और काडर को चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है। भाजपा हमारी पार्टी को कमजोर करने की साजिश कर रही है।

भाजपा के राज्यसभा में 71 सांसद

फिलहाल, भाजपा के राज्यसभा में सबसे ज्यादा 71 सांसद हैं। अगर 6 में से 4 सांसद भाजपा में शामिल होते हैं, तो उनपर दल-बदल कानून लागू नहीं होगा और वे सांसद बने रहेंगे। किसी पार्टी के एक साथ दो तिहाई सांसद या विधायक पार्टी छोड़ते हैं तो उन पर ये कानून लागू नहीं होता है।

लोकसभा चुनाव में तेदेपा को 3 सीटें मिलीं

2019 लोकसभा चुनाव में तेदेपा तीन सीटें ही जीत पाई थी, जबकि इसकी विरोधी पार्टी वाईएसआर कांग्रेस ने 22 सीटों पर जीत हासिल की थी। वहीं, विधानसभा चुनाव में चंद्रबाबू नायडू की पार्टी तेदेपा ने 23 सीटों पर ही जीत हासिल कर पाई। वहीं, वाएसआर कांग्रेस को 151 सीटें मिलीं थीं।

HAMARA METRO

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com