भाजपा ने की 18 नगर निकायों में अविलंब चुनाव कराने की मांग

 पश्चिम बंगाल भाजपा ने राज्य के 18 नगर निकायों में अविलंब चुनाव कराने की मांग की है, जिनका कार्यकाल वर्ष 2018 की आखिरी तिमाही में पूरा हो चुका है और वर्तमान में जो राज्य सरकार की ओर से नियुक्त प्रशासक द्वारा चलाए जा रहे हैं।

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा-‘हम इन नगर निकायों में अविलंब चुनाव चाहते हैं। अगर अभी चुनाव कराए गए तो हम इन 18 नगर निकायों में कम से कम 14 जीतने की स्थिति में होंगे।’ गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव के नतीजों के आधार पर भाजपा इन 18 में से 10 में आगे है। 18 में से 17 का कार्यकाल पिछले साल अक्टूबर से दिसंबर के दौरान खत्म हो चुका है।

इनमें उत्तर 24 परगना जिले के पानीहाटी व हबरा, दक्षिण 24 परगना जिले का डायमंड हार्बर, पूर्व ब‌र्द्धमान जिले के गुसकरा व ब‌र्द्धमान, मुर्शिदाबाद जिले का बहरमपुर, झारग्राम जिले का झारग्राम, पश्चिम मेदिनीपुर जिले का मेदिनीपुर, अलीपुरदुआर जिले का अलीपुरदुआर, कूचबिहार जिले के हल्दीबाड़ी व मेखलीगंज, दक्षिण दिनाजपुर जिले का बालुरघाट, उत्तर दिनाजपुर जिले का दालखोला, नदिया जिले के चकदह व कृष्णानगर, हावड़ा जिले का हावड़ा व वीरभूम जिले का दुबराजपुर नगर निकाय शामिल हैं।

हुगली जिले के चंदननगर के मामले में वहां के बोर्ड को कार्यकाल पूरा होने से पहले ही भंग कर दिया गया और उसे चलाने के लिए प्रशासक की नियुक्ति कर दी गई। इन 18 नगर निकायों में भाजपा पानीहाटी, हबरा, झारग्राम, मेदिनीपुर, अलीपुरदुआर, मेखलीगंज, हल्दीबाड़ी, बालुरघाट, दालखोला और चकदह में लोकसभा चुनाव में आगे रही है। बहरमपुर में कांग्रेस व बाकी सात में तृणमूल आगे रही।

तृणमूल के एक वरिष्ठ नेता व राज्य के मंत्री ने नाम प्रकाशित नहीं करने की शर्त पर बताया कि पार्टी का एक वर्ग चाहता है कि इन नगर निकायों का चुनाव अभी करा दिया जाए ताकि भाजपा जनता को हो रही समस्याओं को मसला बनाकर फायदा न उठा सके।

हालांकि पार्टी का एक बड़ा वर्ग चाहता है कि इन नगर निकायों में चुनाव अगले साल होने वाले कोलकाता व विधाननगर नगर निगम के चुनावों के साथ ही कराया जाए। अभी चुनाव कराए जाने से उन नगर निकायों में चल रही विभिन्न परियोजनाओं पर भी असर पड़ेगा। गौरतलब है कि अगले साल कोलकाता व विधाननगर नगर निगम समेत 82 नगर निकायों के लिए चुनाव होंगे।