अमेरिकी वायुसेना में बरकरार रहेगा सिख, पगड़ी-दाढ़ी के साथ

अमेरिकी वायुसेना ने अपने नियमों से इतर एक सिख को उनकी दाढ़ी, पगड़ी और लंबे बालों के साथ जगह दी है. भारतीय मूल के एयरमैन हरप्रीतंदर सिंह बाजवा पिछले दो साल से इसके लिए लड़ रहे थे और अब जाकर उन्हें सफलता मिली है. हरप्रीतंदर वाशिंगटन में एयरफोर्स बेस के क्रू चीफ हैं.

2017 में उन्होंने अमेरिकी वायुसेना जॉइन की थी, लेकिन ड्रेस कोड, बाल-दाढ़ी के नियमों की वजह से वह प्रैक्टिस से लगातार दूर ही रहे. लेकिन अब जब उन्हें सिख-अमेरिकन वेटेरियन एलायंस और अमेरिकी सिविल लिबर्टी यूनियन का समर्थन मिला है तो वायुसेना को इस पर विचार करना पड़ा.

वायुसेना के फैसले के बाद हरप्रीतंदर सिंह बाजवा ने कहा कि मैं खुश हूं कि अमेरिकी वायुसेना ने मेरे धर्म का सम्मान किया है, इसके लिए मैं हमेशा ही शुक्रगुजार रहूंगा. उन्होंने ये भी बताया कि जब वह एक साल की ट्रेनिंग पर थे, तब भी सीनियर्स ने उनकी मदद की और पगड़ी रखने पर रोक नहीं लगाई.

बता दें कि हरप्रीतंदर सिंह बाजवा का परिवार लंबे समय से अमेरिका में ही रहता है. खुद हरप्रीतंदर का जन्म अमेरिका में ही हुआ था. बता दें कि अमेरिकी वायुसेना के नियमों के मुताबिक जवान का बाल-दाढ़ी पूरी तरह से कटे हुए होने चाहिए. तो वहीं सिख धर्म में एक सरदार के लिए केश धारण करना जरूरी होता है.

बता दें कि इससे पहले 2016 में कैप्टन सिमरतपाल सिंह ने भी इसी तरह की डिमांड अमेरिकी वायुसेना के सामने रखी थी, जिसके बाद उन्हें ऐसा करने की अनुमति मिल गई थी. उसके बाद वायुसेना ने अपने नियमों में बदलाव किया और सिखों को केश रखने की अनुमति दी.

सोशल मीडिया पर भी अमेरिकी वायुसेना के इस फैसले की काफी तारीफ हो रही है. इसके अलावा कई पूर्व अमेरिकी अफसरों ने भी इसके समर्थन में बयान दिया है.

HAMARA METRO

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com