‘बिच्छू’ वाले बयान पर कांग्रेस नेता शशि थरूर को मिली जमानत, 25 जुलाई को होगी अगली सुनवाई

कांग्रेस नेता शशि थरुर शुक्रवार को दिल्ली की एक अदालत में ‘शिवलिंग पर बैठे बिच्छू’ वाली अपनी टिप्पणी मामले पर राउस एवेन्यू कोर्ट के समक्ष पेश हुए। कोर्ट ने अब थरूर को 20 हजार रुपये के बॉन्ड के बाद जमानत दे दी है। इस मामले में सुनवाई की अगली तारीख 25  जुलाई तय की गई है। इस दौरान शिकायतकर्ता और भाजपा नेता राजीव बब्बर का बयान दर्ज किया जाएगा।

जानकारी के लिए बता दें कि थरूर अतिरिक्त मुख्य मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट समर विशाल की अदालत के सामने पेश हुए। उन्होंने कोर्ट में जमानत याचिका दायर की जिसके बाद अदालत ने 20,000 रुपए का बॉन्ड के बाद उनकी जमानत मंजूर कर ली। भाजपा नेता राजीव बब्बर ने थरूर के खिलाफ आपराधिक मानहानि शिकायत दर्ज कराई थी। उन्होंने शिकायत करते हुए कहा था कि कांग्रेस नेता के बयान की वजह से उनकी धार्मिक भावनाएं आहत हुई है। भाजपा नेता राजीव बब्बर ने थरूर के खिलाफ आपराधिक मानहानि शिकायत दर्ज कराई थी। उन्होंने शिकायत करते हुए कहा था कि कांग्रेस नेता के बयान की वजह से उनकी धार्मिक भावनाएं आहत हुई है। उन्होंनें यह भी कहा कि इससे ना सिर्फ उनकी बल्कि कई कार्यकर्ताओं की प्रतिष्ठा को ठेस पहुंचाने वाला है। उनके इस बायन से देश में मौजूद लाखों शिवभक्तों की भावनाएं भी आहत हुई है।

वहीं दूसरी और थरूर ने मीडिया से संस्कृत को देश की आधिकारिक भाषा बनाए जाने को लेकर बातचीत की। इस दौरान उन्होंने कहा कि संस्कृत एक अद्भुत भाषा है और वर्तमान में यह ज्यादा लोगों द्वारा नहीं बोली जाती है। इसलिए अचानक से संस्कृत को आधिकारिक भाषा बनाना थोड़ा मुश्किल होगा, यह यथार्थवादी निवेदन (Realistic Request) नहीं है।