DHFL के कॉमर्शियल पेपर की रेटिंग हुई ‘डिफॉल्ट’, कंपनी के पास नहीं है पैसा

घरेलू रेटिंग एजेंसी क्रिसिल और इक्रा ने बुधवार को दीवान हाउसिंग फाइनेंस कारपोरेशन (DHFL) के कॉमर्शियल पेपर प्रोग्राम की रेटिंग घटा दी है। क्रिसिल ने कंपनी के कॉमर्शियल पेपर की रेटिंग को ‘ए4’ से घटाकर ‘डिफॉल्ट’ ‘D’ कर दिया है। ऐसा डीएचएफएल की बिगड़ती नकदी स्थिति को देखते हुए किया गया है।

इस हफ्ते की शुरुआत में डीएचएफएल के कर्ज की किस्त चुकाने में नाकाम रहने के बाद दोनों एजेंसियों ने नेगेटिव मानते हुए इसे निगरानी दायरे से बाहर कर दिया। क्रिसिल ने एक नोट में कहा कि अपने कुछ गैर-परिवर्तनीय डिबेंचरों पर डीएचएफएल की ओर से ब्याज भुगतान में देरी करने के चलते उसने कंपनी की रेटिंग घटाकर ‘डिफॉल्ट’ कर दी है। यह भुगतान चार जून को किया जाना था। इन एनसीडी को क्रिसिल ने रेटिंग नहीं दी थी।

इसी तरह एक अलग नोट में इक्रा ने कहा कि कंपनी के नकदी हालत और कर्ज किस्त भुगतान में देरी जैसे कारणों की वजह से उसकी रेटिंग घटायी है। कंपनी के पास 750 करोड़ रुपये के कॉमर्शियल पेपर हैं जो जून 2019 में परिपक्व हो रहे हैं और इनके रीपेमेंट की पहली किस्त सात जून को चुकायी जानी थी।

डीएचएफएल का कुल नकदी भंडार 11 अप्रैल 2019 को 2,775 करोड़ रुपये रह गया था, जबकि कंपनी को 2,200 करोड़ रुपये मंथली कलेक्शन की उम्मीद है।

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com