संजय राउत बोले, लोकसभा में डिप्‍टी स्‍पीकर के पद पर हमारा हक

 केंद्र में मोदी सरकार का गठन होने के बाद एनडीए के सहयोगी दल अब केंद्रीय कैबिनेट में सीट पाने के लिए हक जता रहे हैं। इस क्रम में लोकसभा में डिप्‍टी स्‍पीकर के लिए दावा करने वाले शिवसेना के संजय राउत ने कहा, ‘हमारी यह डिमांड नहीं है बल्‍कि स्‍वभाविक तौर पर हमारा हक है, यह पद शिवसेना को मिलना चाहिए।’ उनका कहना है कि भाजपा को पूर्ण बहुमत दिलाने में शामिल सहयोगी दलों को भी सम्मान मिलना जरूरी है। इसे देखते हुए कैबिनेट में उपयुक्‍त स्‍थान दिया जाना चाहिए। बता दें कि शिवसेना एनडीए में दूसरी सबसे बड़ी पार्टी है।

उठाया राम मंदिर निर्माण का मुद्दा

राम मंदिर के निर्माण पर जोर देते हुए उन्‍होंने आगे कहा कि इस बार यदि हम इस दिशा में कुछ नहीं करेंगे तो देश का भरोसा हमसे उठ जाएगा। अब जब भाजपा के 303 विधायक हैं, शिवसेना के 18, एनडीए में 350 से अधिक तब मंदिर निर्माण कराना आसान है। जानकारी के अनुसार, ठाकरे के अयोध्या जाने का कार्यक्रम तैयार हो चुका है। वह 15 जून को अयोध्या जाएंगे।

शिवसेना की दो मांगें-

शिवसेना के नेता संजय राउत ने बताया है कि पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे ने अमित शाह से नई लोकसभा में डिप्टी स्पीकर के पद को शिवसेना को देने की मांग उठाई है। इसके अलावा मोदी सरकार के कैबिनेट में शिवसेना के एकमात्र प्रतिनिधि अरविंद सावंत को बड़ी जिम्मेदारी देने पर जोर दिया है।

केंद्रीय कैबिनेट में जदयू का सांसद नहीं

भाजपा ने कैबिनेट में एनडीए के प्रत्‍येक सहयोगी दलों को पार्टी से एक-एक मंत्री पद देने का ऑफर दिया था, जिसे जदयू प्रमुख व बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने ठुकरा दिया। उनकी मांग थी कि पार्टी से 16 सांसद होने की वजह से उन्हें एक से ज्यादा मंत्री पद दिए जाएं।