दिल्ली के इन इलाकों में फैलाई गंदगी या थूका तो फंस जाएंगे आप

लुटियंस दिल्ली में अब आपको गंदगी फैलाना या थूकना काफी महंगा पड़ सकता है। गंदगी फैलाने वालों पर कार्रवाई के लिए नई दिल्ली नगर पालिका परिषद् (New Delhi Municipal Council) ने सिविक वार्डन नियुक्त करने का फैसला किया है। यह सिविक वार्डन एनडीएमसी इलाके के प्रमुख स्थलों पर तैनात होंगे। जहां पर भी लोग गंदगी फैलाते हुए नजर आएंगे यह सिविक वार्डन उन पर चालान करके कार्रवाई करेंगे। पहले चरण में इसकी शुरुआत अगले सप्ताह से कनॉट प्लेस इलाके में की जाएगी। यहां पर सफलता मिलने के बाद इसे एनडीएमसी के दूसरे इलाकों में भी लागू किया जाएगा। एनडीएमसी के एक सीनियर अधिकारी के मुताबिक, सिविक वार्डन को गंदगी फैलाने पर 50 रुपये तक का चालान करने की भी इजाजत दी गई है।

अवैध हॉकर पर भी होगी कार्रवाई

एनडीएमसी द्वारा नियुक्त किए गए यह सिविक वार्डन कनॉट प्लेस इलाके में लगने वाले अवैध रेहड़ी-पटरियों पर भी खास नजर रखेंगे। जहां पर भी अवैध रेहड़ी-पटरी लगी हुई पाई जाएगी उन्हें जब्त कर लिया जाएगा। एनडीएमसी के एक अधिकारी के मुताबिक, एनडीएमसी के इलाकों में केवल लाइसेंसशुदा हॉकर ही रह पाएंगे। अवैध रूप से सड़क किनारे खड़े होकर सामान की बिक्री करने वाले या फिर कनॉट प्लेस के गलियारे में अवैध रूप से पटरी लगाने वालों को भी इसी अभियान के तहत हटाया जाएगा।

कनॉट प्लेस में अवैध पार्किंग पर सख्त नजर

कनॉट प्लेस और इसके आस-पास के इलाके में यातायात सुचारू रूप से चले, इसके लिए एनडीएमसी इन सभी सिविक वार्डन की मदद लेगी। कनॉट प्लेस के इनर, मीडिल और आउटर सर्कल के साथ केजी मार्ग, जनपथ, बाबा खंडग सिंह मार्ग पर सिविक वार्डन की तैनाती होगी। यह सिविक वार्डन यहां होने वाली अवैध पार्किंग पर नजर रखेंगे। जो भी व्यक्ति अपना दोपहिया या चार पहिया वाहन अवैध रूप से पार्किंग में खड़ा करेगा उसको क्रेन द्वारा उठवा लिया जाएगा।

उल्लेखनीय है कि एनडीएमसी दस क्रेन कनॉट प्लेस और इसके आस-पास के इलाके में अवैध पार्किंग करने वाले वाहनों को उठाकर शिवाजी स्टेडियम के पास खड़ी करती है। यहां पर जुर्माना अदा करने के बाद इन वाहनों को छोड़ा जाता है। इसमें दो पहिया वाहन को 500 रुपये तो चार पहिया वाहन को 1000 रुपये का जुर्माना चुकाना पड़ता है।

पहचान के लिए जाएगी जैकेट

सभी सिविक वार्डन को एक विशेष जैकेट दी जाएगी। सभी सिविक वार्डन गंदगी फैलाने से लेकर अवैध पार्किंग और अवैध रेहड़ी पटरी पर नजर रखेंगे। जैसे ही कोई गंदगी करेगा तो प्रवर्तन विभाग के इंस्पेक्टर उसका चालान करेंगे। एनडीएमसी के एक अधिकारी ने बताया कि लोगों में स्वच्छता के लिए जागरूकता लाने के लिए एनडीएमसी यह प्रयास कर रहा है। इससे लोगों में जागरूकता आएगी और लोगों की गंदगी फैलाने की आदत भी सुधरेगी। उल्लेखनीय है कि कनॉट को दिल्ली का दिल कहा जाता है। यहां पर देश और विदेश के नामी शो रूम हैं, जिन पर हजारों की संख्या में लोग प्रतिदिन आते हैं। ऐसे गंदगी होने पर न केवल दिल्ली की छवि खराब होती है, बल्कि पूरे देश की विदेशों में बदनामी होती है।