मिसाइल से लैस पनडुब्बी में कोकीन लेते पकड़े गए नौसैनिक

  • एचएमएस वेनजेंस में तैनात तीन नाविक यूरिन टेस्ट में पास नहीं हो पाए और पकड़ लिए गए
  • जिस पनडुब्बी में नौसैनिक तैनात थे, उसमें 16 से ज्यादा परमाणु हथियार मौजूद थे

लंदन. ब्रिटिश रॉयल नेवी के तीन सैनिक परमाणु बम से लैस सबमरीन (पनडुब्बी) एचएमएस वेनजेंस में कोकीन लेते पकड़े गए। इन्हें अमेरिका के फ्लोरिडा बंदरगाह के करीब पकड़ा गया, जहां तीनों को अनिवार्य ड्रग टेस्ट में फेल पाया गया। रिपोर्ट्स के मुताबिक, तीनों का यूरिन टेस्ट सबमरीन के सीक्रेट ऑपरेशन के दौरान ही कर लिया गया। सैनिकों को उतारकर पनडुब्बी को स्कॉटलैंड स्थित बेस पर लौटाया गया।

पनडुब्बी में तैनात कई नौसैनिक हो सकते हैं शामिल

ब्रिटिश न्यूज वेबसाइट डेलीमेल ने मिलिट्री सूत्रों के हवाले से दावा किया है कि पकड़े गए तीनों नौसैनिक एचएमएस वेनजेंस पर तैनात कोकीन लेने वाले नौसैनिकों के बड़े समूह का हिस्सा हैं। हालांकि, इनमें से ज्यादातर लोग पकड़े नहीं जा सके। माना जा रहा है कि इन सभी ने ड्रग्स को खून से बाहर करने के लिए ज्यादा से ज्यादा मात्रा में पानी पिया था और टेस्ट के दौरान बच निकले।

पनडुब्बी में लगी हैं 12 हजार किमी मार करने वाली मिसाइलें

दो महीने पहले ही रॉयल नेवी की एक और सबमरीन एचएमएस टैलेंट से भी सात नौसैनिकों के कोकीन लेने का खुलासा हुआ था। हालांकि, एचएमएस वेनजेंस पर यह मामला ज्यादा गंभीर इसलिए है, क्योंकि इसमें 16 से ज्यादा परमाणु हथियार मौजूद हैं।

साथ ही इसमें ट्राइडेंट न्यूक्लियर मिसाइलें भी हैं जो 10 हजार किलोमीटर की रेंज में लाखों लोगों की जान ले सकती हैं। एक्सपर्ट्स के मुताबिक, यह मिसाइलें जापानी शहर हिरोशिमा को उड़ाने वाले बम से आठ गुना ज्यादा ताकतवर हैं।

पनडुब्बी में लगी मिसाइल की तीन साल पहले टेस्टिंग हुई थी। इसमें मिसाइल की रफ्तार करीब 21 हजार किमी प्रतिघंटा रही थी। जिस वक्त सबमरीन से मिसाइल फायर की गई, तब सभी फ्लाइट्स को उनके मार्ग से हटा दिया गया था।

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com