फ्रेंच ओपन : विश्व नंबर एक नाओमी ओसाका टूर्नामेंट से बाहर

पेरिस। विश्व की नंबर एक खिलाड़ी जापान की नाओमी ओसाका और अमेरिकी दिग्गज सेरेना विलियम्स के लिए शनिवार का दिन बेहद निराशाजनक रहा। ये दोनों फ्रेंच ओपन में बड़े उलटफेर का शिकार होकर टूर्नामेंट से बाहर हो गई।

ओसाका को गैरवरीय चेक गणराज्य की कैटरीना सिनियाकोवा के हाथों सीधे सेटों में हार का सामना करना पड़ा। विश्व नंबर-42 सिनियाकोवा ने ओसाका को तीसरे दौर के महिला सिंगल्स मैच में 6-4, 6-2 से मात दी। अमेरिकी ओपन और ऑस्ट्रेलियन ओपन के बाद अपने लगातार तीसरे ग्रैंडस्लैम खिताब की तलाश में लगी ओसाका को गैरवरीय सिनियाकोवा के हाथों एक घंटे 17 मिनट में शिकस्त झेलनी पड़ी। इस तरह उनकी लगातार तीसरे ग्रैंडस्लैम को जीतने की उम्मीद भी टूट गई। पहले दो मैचों में जापान की ओसाका ने अन्ना कैरोलिना श्मिदलोवा और विक्टोरिया अजारेंका के खिलाफ पहले सेट में पिछड़ने के बाद वापसी करते हुए अगले दौर में प्रवेश किया था।

नंबर एक ने नंबर एक को हराया : विश्व की नंबर एक महिला डबल्स खिलाड़ी सिनियाकोवा ने नंबर एक सिंगल्स खिलाड़ी ओसाका को हराया। 1987 अमेरिकी ओपन फाइनल के बाद यह पहली बार हुआ है कि जब किसी नंबर एक डबल्स खिलाड़ी ने सिंगल्स नंबर एक महिला खिलाड़ी को हराया। 1987 में डबल्स खिलाड़ी मार्टिना नवरातिलोवा ने स्टेफी ग्राफ को 7-6, 6-1 से हराया था। सिनियाकोवा का अगले दौर में मुकाबला अमेरिकी खिलाड़ी मेडिसन कीज से होगा। ओसाका पहली बार फ्रेंच ओपन में नंबर एक खिलाड़ी के तौर पर खेल रही थीं।

सेरेना का टूटा सपना : सेरेना के लिए रिकॉर्ड 24वीं बार गैंडस्लैम जीतने का सपना टूट गया। पूर्व नंबर एक खिलाड़ी को तीसरे दौर के मुकाबले में हमवतन सोफिया केनिन के हाथों 2-6, 5-7 से सीधे सेटों में हार के साथ टूर्नामेंट से बाहर होना पड़ा। सेरेना अगर फ्रेंच ओपन का खिताब जीत लेतीं तो मार्गे्रट स्मिथ कोर्ट के 24 महिला सिंगल्स ग्रैंडस्लैम खिताब की बराबरी कर लेतीं। विश्व की 35वें नंबर की खिलाड़ी केनिन और सेरेना के बीच पहली बार आमने-सामने हुई थी।

हालेप भी जीतीं : विश्व की तीसरे नंबर की खिलाड़ी सिमोना हालेप ने यूक्रेन की लेसिआ सुरेंको को 55 मिनट में 6-2, 6-1 से हराकर चौथे दौर में जगह बनाई। हालेप पूरे मैच में सिर्फ तीन गेम हारी थीं और रोमानिया की हालेप को रोकना सुरेंको के लिए आसान नहीं था।

HAMARA METRO