कश्मीर में सेना को बड़ी सफलता, दो मुठभेड़ों में मार गिराए पांच आतंकी

23 मई को पुलवामा के त्राल इलाके में खूंखार आतंकी जाकिर मूसा के अंत के बाद सेना ने एक बार फिर यहां दो आतंकियों को मार गिराया है। हिज्बुल मुजाहिदीन का गढ़ कहे जाने वाले त्राल में सेना की राष्ट्रीय राइफल्स, जम्मू-कश्मीर पुलिस और सीआरपीएफ ने संयुक्त रूप से आतंकियों के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की है। इसके अलावा शोपियां जिले में सेना ने तीन आतंकियों को ढेर किया है।
सूत्रों के मुताबिक, सेना की राष्ट्रीय राइफल्स को शुक्रवार दोपहर त्राल के नानेर इलाके में आतंकी मूवमेंट की जानकारी मिली थी। इस सूचना पर कार्रवाई करते हुए एसओजी और आर्मी ने यहां संयुक्त रूप से सर्च ऑपरेशन चलाया। इसी बीच यहां आतंकियों ने जवानों पर गोलीबारी की, जिसके बाद काउंटर ऑपरेशन में सेना ने भारी गोलीबारी करते हुए आतंकियों को घेर लिया। इसके बाद करीब 3 घंटे तक चली गोलीबारी के बाद दो आतंकियों को मार गिराया गया, जिनके पास से सेना ने हथियार और अन्य सामान बरामद किए।
शोपिया में भी ढेर किए गए तीन आतंकी
पुलवामा के अलावा सेना ने शुक्रवार को ही दक्षिण कश्मीर के शोपियां जिले में भी तीन दहशतगर्दों को मार गिराया था। शोपियां के दारगाड सुगन इलाके में एक मुठभेड़ के बाद सेना ने दो आतंकियों और इनके एक स्थानीय सहयोगी को ढेर किया।

23 मई को ढेर हुआ था जाकिर मूसा
बता दें कि कश्मीर घाटी के संवेदनशील इलाकों में से एक त्राल में इससे पहले 23 मई को लोकसभा चुनाव के मतों की काउंटिंग के दिन भी एक बड़ी मुठभेड़ हुई थी। त्राल में सेना की राष्ट्रीय राइफल्स और आतंकियों के बीच हुई इस मुठभेड़ में अंसार गजावत-उल-हिंद के चीफ और मोस्ट वॉन्टेड आतंकी जाकिर मूसा को मार गिराया गया था। इससे पहले 8 जुलाई 2016 को इसी इलाके में हिज्बुल मुजाहिदीन के पोस्टर बॉय कहे जाने वाले आतंकी बुरहान वानी को भी एक एनकाउंटर में मार गिराया गया था।