अरुण जेटली ने कहा- 18 महीने से गंभीर रूप से हूं बीमार, सरकार की अनौपचारिक मदद करता रहूंगा

  • अरुण जेटली ने कहा- 18 महीने से गंभीर रूप से बीमार हूं
  • निवर्तमान वित्त मंत्री जेटली ने कहा- पार्टी और सरकार की अनौपचारिक मदद करता रहूंगा
  • रूप से बीमार हूं- पार्टी और सरकार की अनौपचारिक मदद करता रहूंगा

नई दिल्ली. निवर्तमान वित्त मंत्री अरुण जेटली ने बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर नई सरकार में शामिल होने को लेकर असमर्थता जताई। जेटली ने पत्र में स्वास्थ्य कारणों का हवाला दिया है। वे 2014 में एनडीए सरकार में वित्त मंत्री और रक्षा मंत्री बनाए गए थे। उनके बाद मनोहर पर्रिकर ने रक्षा मंत्री की जिम्मेदारी संभाली थी। स्वास्थ्य ठीक नहीं होने से जेटली इस बार बजट पेश नहीं कर पाए थे। तब उनकी जिम्मेदारी पीयूष गोयल ने संभाली थी।

उन्होंने लिखा- ”पिछले पांच साल सरकार का हिस्सा रहना मेरे लिए गर्व और सीखने का अनुभव था। बीते 18 महीनों से गंभीर स्वास्थ्य समस्याओं से गुजर जूझ रहा हूं। हालांकि, मेरे डॉक्टरों ने ज्यादातर बीमारियों से निकलने में मदद की। आपके चुनाव अभियान के खत्म होने और केदारनाथ जाने से पहले मैंने मौखिक रूप से आपको बता दिया था। नई सरकार में शामिल नहीं हो पाऊंगा। इसके बाद भी पार्टी और सरकार की अनौपचारिक मदद करता रहूंगा।”

जेटली को दो बार रक्षा मंत्रालय का प्रभार मिला था

मई 2014 में मोदी सरकार बनने के बाद जेटली को वित्त और रक्षा मंत्रालय का प्रभार दिया गया था। वे 2014 में छह महीने रक्षा मंत्री रहे। बाद में मनोहर पर्रिकर रक्षा मंत्री बनाए गए। उनके गोवा का मुख्यमंत्री बनने के बाद जेटली को 2017 में छह महीने के लिए दोबारा यह प्रभार दिया गया। बाद में उनकी जगह निर्मला सीतारमण रक्षा मंत्री बनीं।