पश्चिमी उप्र में कांग्रेस के 22 में 21 प्रत्याशियों की जमानत जब्त, इनमें राज बब्बर और सलमान खुर्शीद भी शामिल

  • सहारनपुर से चुनाव लड़ने वाले इमरान मसूद ही अपनी जमानत बचा पाए
  • प्रत्याशी को जमानत बचाने के लिए कुल मतदान का 6वां हिस्सा यानी 16.66% वोट हासिल करने होते हैं
  • 80 सीटों वाले उप्र में कांग्रेस को 1 सीट मिली, राहुल गांधी ने अपनी परंपरागत सीट अमेठी भी गंवाई

नई दिल्ली. 2014 की तरह इस लोकसभा चुनाव में भी कांग्रेस का प्रदर्शन कुछ खास नहीं रहा। खासकर 80 सीटों वाले उत्तरप्रदेश में। यहां पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी भी अपनी परंपरागत सीट अमेठी से चुनाव हार गए। कांग्रेस के लिए सिर्फ यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी ही एक सीट बचाने में कामयाब हो पाईं।

पश्चिमी उत्तरप्रदेश की बात करें, तो यहां कांग्रेस के 22 उम्मीदवारों में से 21 अपनी जमानत भी नहीं बचा पाए। जमानत गंवाने वालों में कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर और पूर्व केंद्रीय मंत्री सलमान खुर्शीद भी शामिल हैं। सहारनपुर से चुनाव लड़ने वाले इमरान मसूद ही अपनी जमानत बचा पाए। मसूद को 16.81% वोट मिले। किसी भी प्रत्याशी को अगर कुल वोटों का 6वां हिस्सा यानी 16.66% वोट नहीं मिलते तो उसकी जमानत जब्त हो जाती है। नामांकन के वक्त प्रत्याशी को 25 हजार रुपए की जमानत राशि जमा करनी होती है।

कांग्रेस ने पश्चिमी उप्र की 28 में से 22 सीटों पर लड़ा था चुनाव

कांग्रेस ने पश्चिमी उत्तरप्रदेश की 28 में से 22 सीटों पर चुनाव लड़ा था। रणनीति के तहत कांग्रेस ने इन 28 सीटों में से 4 पर महागठबंधन के खिलाफ प्रत्याशी नहीं उतारे थे। कांग्रेस ने अजीत सिंह और उनके बेटे, मुलायम सिंह और उनके भतीजे के खिलाफ प्रत्याशी नहीं उतारे थे। इसके अलावा पीलीभीत और ऐटा सीट पर कांग्रेस समर्थित प्रत्याशी चुनाव लड़ रहे थे। इन दोनों प्रत्याशियों की भी जमानत जब्त हो गई।

इन सीटों पर भी प्रत्याशियों की जमानत जब्त

राज बब्बर और खुर्शीद के अलावा आगरा, मथुरा, अलीगढ़, हाथरस, बरेली, बदायूं, आंवला, शाहजहांपुर, गाजियाबाद, मेरठ, बुलंदशहर, गौतमबुद्ध नगर, मुरादाबाद, संभल, बिजनौर, नगीना, अमरोहा, रामपुर, कैराना से चुनाव लड़ रहे प्रत्याशियों की भी जमानत जब्त हो गई।

राज बब्बर को भाजपा प्रत्याशी राज कुमार चहर से हार का सामना करना पड़ा। बब्बर को 1.72 (16.56%) लाख वोट मिले। जबकि चहर को 6.67 लाख वोट हासिल हुए। सलमान खुर्शीद को सिर्फ 5.51% यानी 55,258 वोट मिले। उन्हें मौजूदा सांसद मुकेश राजपूत के सामने हार का सामना करना पड़ा। राजपूत को 5.69 लाख वोट मिले।

राज बब्बर ने इस्तीफे की पेशकश की

राज बब्बर ने उत्तरप्रदेश में पार्टी की बुरी तरह हार की जिम्मेदारी को स्वीकारते हुए कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष पद से इस्तीफे की पेशकश भी की।

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com