अक्षय तृतीया के अवसर पर सोने की बिक्री में 25 फीसदी का उछाल

अक्षय तृतीया के मौके पर मंगलवार को आभूषण कारोबारियों ने दुकानों में खरीदारों की संख्या में अच्छी वृद्धि की जानकारी दी है। इनमें से कई कारोबारियों ने बताया कि इस बार पिछले साल के मुकाबले बिक्री में 25 प्रतिशत तक वृद्धि दर्ज की गई है।

उद्योग से जुड़े सूत्रों ने बताया कि सोने की खुदरा कीमतों में कमी और शादी – ब्याह के मौसम को देखते हुए ग्राहकों की धारणा मजबूत हुई। सोने का खुदरा भाव 32,000 रुपए प्रति दस ग्राम के आस – पास चल रहा है। यह पिछले साल से करीब सात प्रतिशत कम है।

सोना-चांदी कारोबार के लिये पिछले कुछ साल खराब रहे हैं। नोटबंदी और माल एवं सेवा कर (जीएसटी) का आभूषण कारोबार पर बुरा असर पड़ा है। वर्ष 2016 के बाद यह पहला अक्षय तृतीया है , जिसमें बिक्री में कुछ वृद्धि दिखाई दी है।

भारतीय सर्राफा एवं आभूषण संघ के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और पीएन गाडगिल ज्वैलर्स के चेयरमैन सौरभ गाडगिल ने कहा कि सकारात्मक रुख के चलते ग्राहकों की संख्या अच्छी रही। कामकाज का दिन और भीषण गर्मी के बावजूद ग्राहक पहले से बुक किए आभूषणों और सोने के उत्पाद लेने दुकानों में पहुंचे। दफ्तर के घंटे खत्म होने के बाद ग्राहकों की संख्या और बढ़ी और रातभर में बिक्री में और तेजी आने का अनुमान है।

उन्होंने कहा, ‘हम बिक्री को लेकर सकारात्मक हैं और हमें पिछले साल के मुकाबले इस बार 25 प्रतिशत की वृद्धि की उम्मीद है।’ अखिल भारतीय रत्न एवं आभूषण घरेलू परिषद के चेयरमैन अनंत पद्मनाभन ने कहा कि उन्हें देश भर से सकारात्मक खबरें मिल रही हैं।

पद्मनाभन ने बताया, ‘झुलसा देने वाली गर्मी और कामकाज का दिन होने के बावजूद ग्राहकों की संख्या अधिक रही। दक्षिण क्षेत्र ने अच्छा प्रदर्शन किया। इसके बाद उत्तर भारत का स्थान आता है। शादी – ब्याह के मौसम को देखते हुए इस साल अब तक आभूषण बिक्री में तेजी रही। ग्राहक कीमती धातु की कीमतें कम होने का भी लाभ उठा रहे हैं।

कल्याण ज्वैलर्स के चेयरमैन टी एस कलयाणरमन ने कहा, ‘दक्षिण भारत में कारोबार अच्छा रहा। इसके बाद उत्तर भारत का स्थान रहा। कीमती धातुओं के स्थिर दाम और सकारात्मक धारणा से कारोबार में अच्छी वृद्धि देखने को मिली।’ यूटी जावेरी के कुमार जैन ने कहा कि 17 साल बाद अक्षय तृतीया पर यह विशेष मुहूर्त आया है इसलिए लोग इसका लाभ उठाना चाहते हैं।

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com