क्या ग्वालियर का माहौल सिंधिया के खिलाफ तैयार हो रहा है

कांग्रेस के स्टार प्रचारक और सबसे लोकप्रिय नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया के खिलाफ उनके गृह नगर ग्वालियर में ही कांग्रेसी लामबंद हो गए हैं। दरअसल इस बार फिर ग्वालियर से चुनाव कांग्रेस के टिकट पर 3 बार सांसद चुनाव हार चुके अशोक सिंह लड़ रहे हैं जो मूलत है दिग्विजय सिंह गुट के नेता माने जाते हैं। इसके साथ ही ग्वालियर के स्थानीय नेता साहब सिंह गुर्जर, जो अभी हाल ही में बसपा के टिकट पर विधानसभा चुनाव हारे थे और  दिग्विजय सिंह के सामने दोबारा कांग्रेस में शामिल हुए हैं, ने भी सिंधिया के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है।

ग्वालियर के ओहदपुर गांव में हुई एक सभा में कांग्रेस के विधायक रह चुके स्वर्गीय सोबरन सिंह मावई के बेटे प्रबल प्रताप उर्फ रिंकू मावई ने सिंधिया का नाम लिए बिना उन पर जमकर निशाना साधा। मावई ने यहां तक कह दिया कि सब जानते हैं कि ग्वालियर में  कांग्रेसियों को चुनाव दिल्ली में बैठा एक नेता हरवाता है। मावई ने कांग्रेसियों को हिदायत दी कि वे गुलामी छोड़ दे जिस से ढाई ढाई सौ गाड़ियों का काफिला लेकर चलने वाले नेता खुद उनके घर आकर उनकी पूछ परख करना सीख ले। मावई ने यह भी कहा कि उन्होंने अपनी गुलामी छोड़ दी है और अपनी बिछिया चूड़ी और सिंदूर चंबल नदी में बहा दिए हैं। मावई ने जिस समय सभा को संबोधित किया कांग्रेस के प्रत्याशी अशोक सिह भी वहां मौजूद थे। सिंधिया के खिलाफ यदा-कदा कांग्रेसियों के बगावत के सुर सुनाई देते रहे हैं लेकिन यह पहला मौका है जब राजनीति से किसी नेता ने सिंधिया को निशाना बनाया हो।

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com