बंद होगी Amazon, अब भारत पर रहेगा पूरा जोर

बंद होगी Amazon, अब भारत पर रहेगा पूरा जोर

दुनिया की सबसे बड़ी कंपनी अमेजन (Amazon) चीन में अपना कारोबार बंद करने का प्लान कर रही है. कंपनी ने चीनी ऑनलाइन कंपनियों के सामने हार मान ली है. कंपनी ने ऐलान किया है कि अमेजन चीनी मार्केटप्लेस बिजनेस को जुलाई से बंद कर देगी. इसका मतलब है कि अब अमेजन पर चीन के लोकल सेलर्स का सामान नहीं बेचा जाएगा. इसकी जगह ग्राहकों को ओवरसीज प्रोडक्ट मिलेंगे. इस कदम के बाद प्लेटफॉर्म पर सेलर्स की संख्या घटने से अमेजन को खासा नुकसान होगा.

चीन के ई-कॉमर्स बाजार में Alibaba (अलीबाबा) और JD.com का बोलबाला है. नया ऐप Pinduoduo भी अमेजन को टक्कर दे रहा था. ऐसे में चीन में काम करते रहना अमेजन के लिए मुश्किल हो गया था. चीन के ई-कॉमर्स से बाहर निकलना अमेजन के लिए बड़ी नाकामी के तौर पर देखा जा रहा है.

अमेजन ने 2004 में एक चीनी ऑनलाइन बुक स्टोर को 520 करोड़ रुपये में खरीदकर कारोबार शुरू किया था. तब से अब तक कंपनी ने वहां वेयरहाउसेज और डाटा सेंटर में बड़ा निवेश किया है. कंपनी ने चीनी सेलर्स को अपना सामान अमेजन के ग्राहकों को बेचने का प्रशिक्षण देने के लिए कई प्रोग्राम भी आयोजित किए हैं.

2016 में अमेजन ने चीन में Prime Membership प्रोग्राम शुरू किया, ताकि हाई-क्वालिटी वेस्टर्न सामान और फ्री इंटरनेशनल डिलीवरीज जैसी सुविधाओं से ग्राहकों को लुभा सकें. लेकिन, प्राइम वीडियो जैसे एक्स्ट्रा फायदे यहां के ग्राहकों के लिए उपलब्ध नहीं हुए.
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, अमेजन भारत पर ज्यादा ध्यान देने के लिए चीन से निकल रही है. चीन में अमेजन की हिस्सेदारी 1 फीसदी थी, जबकि भारत में उसके प्रमुख ई-कॉमर्स प्लेयर बनने की संभावना ज्यादा है.

2013 में भारत में अपनी वेबसाइट लॉन्च करने के बाद से ही कंपनी ने यहां बिजनेस में अरबों डॉलर का निवेश करके 50 से भी ज्यादा वेयरहाउस तैयार किए हैं. अमेजन को भारत में भी चीनी ई-कॉमर्स कंपनियों से मुकाबला करना होगा. यहां भी अलीबाबा और अन्य चीनी कंपनियां अपने ऑपरेशंस में तेजी ला रही हैं या Paytm ई-कॉमर्स प्राइवेट और BigBasket में इन्वेस्ट कर रही हैं.

Source:Agency

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com