छात्र से पीठ और हाथ-पैर दबवाने वाले शिक्षक के खिलाफ जांच शुरू

छात्र से पीठ और हाथ-पैर दबवाने वाले शिक्षक के खिलाफ जांच शुरू

मड़ियादो । छात्रों से पीठ और हाथ-पैर दबवाने वाले शिक्षक के खिलाफ शिक्षा मंत्री ने जांच के आदेश जारी किए हैं। डीपीसी के निर्देशन में टीम ने जांच शुरू कर दी है। मामला जिले के हटा के मड़ियादो संकुल के प्राथमिक स्कूल कलकुआ बंजारा टोला में पदस्थ शिक्षक हरिशंकर तिवारी का है। दरअसल गुरुवार को प्रदेश के शिक्षामंत्री दीपक जोशी जब वित्तमंत्री जयंत मलैया के घर उनकी मां के निधन पर श्रद्धांजलि देने दमोह पहुंचे थे। तब उनके संज्ञान में यह मामला आया और उन्होंने जिला शिक्षा अधिकारी को जांच कर शुक्रवार तक कार्रवाई करने के निर्देश दिए। गुरुवार को विभागीय स्तर पर इस मामले की जांच अधिकारियों ने स्कूल पहुंचकर शुरू कर दी है।

यह है मामला

प्राथमिक स्कूल कलकुआ बंजाराटोला में पदस्थ शिक्षक हरिशंकर तिवारी बुधवार की दोपहर में कक्षा पांचवी के एक छात्र से स्कूल के कमरे में छात्र के पैर से अपनी पीठ दबवा रहे थे। उनसे पूछा गया तो सीने में अचानक दर्द होने की बात कही थी। छात्रों का कहना था कि शिक्षक उनसे हमेशा हाथ, पैर दबवाते हैं और मना करने पर मारपीट करते हैं। गुरुवार को जांच टीम इस मामले की जांच करने स्कूल पहुंची और उन्होंने छात्रों से शिक्षक द्वारा मारपीट करने की बात पूछी तो छात्रों ने मना कर दिया।

शिक्षक के इस कृत्य पर एक वेतनवृद्धि रोकने व भविष्य में इस तरह की घटना की पुनरावृत्ति ना हो इस संबंध में हिदायत दी है। जांच करने के लिए प्रभारी संकुल प्राचार्य ओएस राजपूत, जनशिक्षक अनिल दुबे, शैलेंद्र दुबे, महेंद्र पटैल स्कूल जांच करने पहुंचे। इस स्कूल में 19 छात्र हैं। जब परिजनों द्वारा शिक्षक के इस कृत्य पर जानकारी ली गई तो उन्होंने कुछ भी बोलने से मना कर दिया।

शिक्षामंत्री के संज्ञान में यह मामला आया है। उन्होंने जांच कर कार्रवाई के निर्देश जिला शिक्षा अधिकारी को दिए हैं। गुरुवार को ही इस मामले की जांच शुरू की गई जांच प्रतिवेदन नहीं पहुंचा। जैसे ही उनके पास जांच प्रतिवेदन आता है वे उसे कलेक्टर के पास भेज देंगे। शिक्षक पर कार्रवाई की जाएगी। – हेमंत खेरवाल, डीपीसी दमोह

मैंने टीम को बताया है कि मेरे सीने में दर्द हो रहा था इसलिए मैं क्लास में लेट गया था। छात्र की सहमति पर ही मैंने पीठ दबवाई थी उस समय रसोइया भी वहां मौजूद था। बच्चों के साथ मारपीट करने वाली कोई बात नहीं है।- हरिशंकर तिवारी, शिक्षक

Source:Agency