भोपाल को मांस की मंडी बना रही भाजपा, कांग्रेस की मंदिर यात्रा

भोपाल को मांस की मंडी बना रही भाजपा, कांग्रेस की मंदिर यात्रा

 

 

भोपाल। स्लाटर हाउस का प्रस्ताव नगर निगम की बैठक में पारित कर कानूनी प्रक्रिया पूरी करने वाली भाजपा की परिषद बैकफुट पर है। हिंदू संगठन विधायकों, पार्षदों के घरों और कारों पर कालिख पोत रहे है, उन्हें दोगला लिखा जा रहा है। वहीं कांग्रेस ने भाजपा परिषद पर भोपाल को मांस की मंडी बनाने का आरोप लगाया है। कंकाली मंदिर के पास स्लाटर हाउस के विरोध में कांग्रेस आज इंद्रपुरी से पदयात्रा निकाली रही है।
रिपोर्ट लेकर ठॠळ पहुंचे  अफसर
एनजीटी में आज स्लाटर हाउस को लेकर सुनवाई शुरू हुई। इसमें नगर निगम ने स्लाटर हाउस की शिफ्टिंग को लेकर अपना हलफनामा प्रस्तुत किया। हलफनामे में नगर निगम ने स्लाटर हाउस की शिफ्टिंग आदमपुर छावनी में करने के प्रस्ताव को नगर निगम परिषद की बैठक में पास होने की बात कही। नगरीय प्रशासन की ओर से नीलेश खरे एनजीटी में पहुंचे। अफसरों ने एनजीटी को बताया कि आदमपुर छावनी में 45 एकड़ जमीन आरक्षित है। इसमें से 4 एकड़ जमीन स्लाटर हाउस के लिए दी गई है।
भारी सख्ती के बाद पारित हुआ था प्रस्ताव
नगर निगम द्वारा सरकार और एनजीटी के भारी दबाव के बीच यह प्रस्ताव पारित किया गया था। गौरतलब है कि एक बार यह प्रस्ताव रिजेक्ट भी हो गया था। लेकिन बाद में महापौर और एमआईसी को पद से हटाने की और निगम के खाते सीज करने की चेतावनी मिली तब इसे पारित किया गया।
बीजेपी की मजबूरी मौन
स्लाटर हाउस के मामले में मौन रहना भाजपा नेताओं और पार्षदों की मजबूरी बन गया है। यदि वह इसका पक्ष करते हैं तो उनकी आइडियोलॉजी के विरुद्ध है। साथ ही पब्लिक उनके खिलाफ होती है। और यदि वे खिलाफ जाते हैं तो पारित प्रस्ताव और कानून का उल्लंघन है। गौरतलब है कि एनजीटी के निर्देश पर पक्ष में न होने के बाद भी भाजपा को यह प्रस्ताव पारित करना पड़ा।
पॉलिटिक्स न करे कांग्रेस
भाजपा विधायक रामेश्वर शर्मा का कहना है कि मैं स्लाटर हाउस का विरोधी हूं, पर कांग्रेस राजनीति न करे। धरना, प्रदर्शन, पदयात्रा इसका हल नहीं है। स्लाटर हाउस का विरोध करना है तो एनजीटी में पक्ष रखें।
पार्षदों, विधायक के घरों में कालिख पोतने वालों की तलाश
भोपाल। आदमपुर छावनी में स्लाटर हाउस बनने के विरोध में विधायक सुरेन्द्रनाथ सिंह और कुछ पार्षदों के बंगलों पर कालिख पोतने वालों की पुलिस ने तलाश शुरू कर दी है। इसके लिए विधायक के घर के बाहर लगे सीसीटीवी कैमरों के फुटेज की जांच की जा रही है। इस संबंध में पुलिस स्लाटर हाउस का विरोध करने वाले ग्रामीण संघर्ष मोर्चा के सदस्यों से भी पूछताछ करेगी। गौरतलब है कि पिछले दिनों मोर्चा ने स्लाटर हाउस का समर्थन करने वाले नेताओं के घरों पर कालिख पोतने की बात कही थी।

नेता कम, जनता पहुंची विरोध में
इंद्रपुरी से लेकर कंकाली मंदिर तक प्रस्तावित कांग्रेस की पदयात्रा में नेता तो कम थे,  जनता विशेषकर महिलाओं की संख्या अच्छी थी। नागरिकों को कहना है कि स्लाटर हाउस किसी भी कीमत पर नहीं बनेगा। भोपाल की जमीन पर बेजुवान जानवर नहीं काटे जाएंगे। प्रदर्शन में अमित शर्मा, गिरीश शर्मा, गुड्डू चौहान सहित कई कांग्रेसी पार्षद पहुंचे। इस अवसर पर अमित शर्मा ने कहा भाजपा नेता भोपाल को मांस की मंडी बनाना चाहते हैं। मंदिर के पास स्लाटर हाउस नहीं बनेगा, यह जनता का आंदोलन है।

आदमपुर छावनी सहित आसपास के कई ग्रामीण आज एनजीटी पहुंचे। उनका कहना है कि वह न्यायालय में अपना पक्ष रखेेंगे कि इस तरीके से प्रस्तावित जगह पर स्लाटर हाउस बनाना गलत है। एनजीटी से अनुरोध करने वालों में ब्रजेश जैन, प्रशांत ठाकुर, विकास गुप्ता, नरेन्द्र मीणा आदि प्रमुख हैं।

Source:Agency

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com