निर्माणधीन पुलिया पर आया पानी, ग्रामीणों ने लगाए लापरवाही के आरोप

 

हमारा मेट्रो,  बड़वानी

सरदार सरोवर बांध परियोजना की डूब के मद्देनजर जिले में राहत कार्योंव मुआवजे में भ्रष्टाचार के बाद निर्माण कार्यांे में झोल कम होने का नाम नहीं ले रहा हैं। ऐसा ही मामला ग्राम बगून में देखने को मिल रहा हैं। जहां टापू बने खेतों तक जाने के लिए बन रही पुलिया पर ही पानी भर गया। ग्राीमणों ने इसे लापरवाही बताया, तो अधिकारी इसे प्रोटेक्शन वॉल नहीं बनने से पानी भरने की बात कह रहे हैं।

बरहाल बांध पूर्ण भरने से क्षेत्र में नर्मदा का बैकवाटर लेवल 138 मीटर से ऊपर पहुंच गया हैं। इससे कई जगह खेत टापू बन गए हैं। समीप राजघाट गांव डूब चुका हैं। वहीं बैकवाटर से कई जगह खेत टापू बन गए हैं तो कई खेत जलमग्न होकर खड़ी फसलें बर्बादी की कगार पर पहुंचने लगी हैं। ग्राम बगूद में बैकवाटर से घिरे खेतों तक किसानों के पहुंचने के लिए बन रही पुलिया पर पानी भर गया। ग्रामीणों ने कहा कि यह पुलिया का निर्माण डेढ़-दो पूर्व से हो रहा है। जिसमें लापरवाही बरतने से पुलिया उपयोग में आने के पूर्व ही डूब गई।

वहीं मामले को लेकर एनवीडीए कार्यपालन यंत्री एसएस चौंगड़ का कहना हैं कि ग्राम बगूद में डूब से घिरे खेतों तक पहुंचने के लिए 1 करोड़ 44 लाख रुपए की लागत से पुलिया का निर्माण हो रहा हैं, जिसका कार्य रनिंग में ही हैं। वर्तमान में पुलिया की वॉल बैकवाटर से करीब 70 सेंटीमीटर ऊपर हैं। हालांकि पुलिया के एप्रोज रोड पर प्रोटेक्शन वॉल नहीं बनने से बैकवाटर भर गया। पुलिया पूर्ण रुप से बनने के बाद दिक्कत नहीं आएगी। अभी काम रनिंग में हैं, जो भी कमियां होगी, उसे दुरस्त करवाया जाएगा।

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com