100 करोड़ रूपये से अधिक की अकूत सम्पत्ति का मालिक श्रीराम तिवारी

100 करोड़ रूपये से अधिक की अकूत सम्पत्ति का मालिक श्रीराम तिवारी

 

 

मध्यप्रदेश सरकार के संस्कृति संचालनालय के पूर्व संचालक श्रीराम तिवारी के खिलाफ 100 करोड़ रूपये की अनुपातहीन सम्पत्ति की शिकायत प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी और मध्यप्रदेश के उप लोकायुक्त से की गई है और इनके खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत जांच कर कार्रवाई की मांग की गई है।

पूर्व विधायक एवं बहुजन समाज पार्टी के नेता किशोर समरीते ने यह शिकायत प्रधानमंत्री मोदी से करते हुए तिवारी की अवैध एवं अनुपातहीन सम्पत्ति की जांच सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय से कराने की मांग की है, जबकि भोपाल के वकील यावर खान ने शपथपत्र देकर प्रदेश के उप लोकायुक्त से की गई शिकायत में तिवारी की अधिकांश सम्पत्ति के सबूत अपनी शिकायत में पेश किये हें।

इन शिकायतों के अनुसार तिवारी पर संचालक संस्कृति के पद पर रहते हुए 100 करोड़ रूपये से अधिक की सम्पत्ति अर्जित करने का आरोप लगा है। शिकायत में लिखा है कि तिवारी का सरकार में अत्यधिक दखल होने की वजह से आर्थिक अपराध अनुसंधान शाखा और एसटीएफ, जो राज्य सरकार की जांच एजेंसियां हैं, जांच नहीं कर पा रही हैं। शिकायत के साथ तिवारी का पेन कार्ड और आधार कार्ड की छायाप्रति भी संलग्न की गई है।

शिकायत में बताया गया है कि तिवारी के पास अपने पुत्र अमृतांश तिवारी के नाम रूसल्ली में 1400 वर्गफीट के 14 प्लाट हैं, जिनकी रजिस्ट्री एक ही दिन में कराई गई है। इसके अलावा पुत्र अमृतांश के नाम बी—1, 604 कोरलवुड होशंगावाद रोड में 50 लाख का बंगला, होशंगाबाद रोड पर सी—21 मॉल में छह करोड़ रूपये का 3000 वर्गफीट ए—5 हॉल, कोलार रोड में बीके—2 डुपलेक्स बंगला कीमत 50 लाख रूपये, दानिश कुंज कोलार रोड में डीके—4/37 बंगला, राजीव गांधी विश्वविद्यालय के पीछे सिएक सिटी वाले एके दुबे से खरीदा गया 15 लाख रूपये का 5000 वर्गफीट फार्म हाउस, पत्नी मंजू तिवारी के नाम सिएक सिटी, न्यू मा​र्केट आफिस में 1.40 करोड़ रूपए नकद निवेश, जिसका ब्याज प्रति माह तीन लाख रूपये मिलता है, इस नकद निवेश की सिक्योरिटी के बतौर चिकलोद रोड पर तीन एकड़ जमीन रखी है, पुत्र के नाम पर ही बावड़ियाकला सूरज विहार में दो करोड़ रूपये मूल्य का 20 हजार वर्गफीट प्लाट है।

शपथपत्र देकर की गई शिकायत में दावा किया गया है कि भोपाल के देना बैंक, एचडीएफसी बैंक एवं भारतीय स्टेट बैंक में करोड़ों रूपये जमा एवं 200 से अ​धिक एफडी हैं। पुत्र के नाम पर चंदनपुरा कैरवा डैम में 10 करोड़ रूपये अनुबंध का 10 हजार वर्गफीट प्लाट, दादरोड में 10 करोड़ रूपये की पांच एकड़ जमीन, सौमित्र विहार एवं दादरोड में पांच करोड़ रूपये की 20 हजार वर्गुफीट भूमि, भोपाल एवं उज्जैन में पचास करोड़ रूपये की 25 एकड़ जमीन भी खरीदी गई है।

Source:Agency

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *