नर्मदे हर के जयघोष के साथ शुरु हुई गौरव महोत्सव यात्रा, कॉलेज परिसर में शुरू हुए कार्यक्रम

🔴 जिले की 24 वीं वर्षगांठ पर निकली यात्रा में झूमे मंत्री-सांसद, अधिकारी व नागरिक

🔴 विभिन्न समाज-संगठनों ने मंच लगाकर की पुष्पवर्षा

🔴 कॉलेज मैदान पर हुई सात दिवसीय कार्यक्रमों की शुरुआत

✍️ इम्तियाज खान intu✍️ 

✍️दैनिक हमारा मैट्रो, बड़वानी✍️

शहर के समीप राजघाट स्थित नर्मदा तट पर बुधवार शाम नर्मदे हर के जयघोष गूंजे। मौका था जिले की 24 वीं वर्षगांठ के अवसर पर शुरु हुए गौरव महोत्सव का। बुधवार शाम जनप्रतिनिधियों, अधिकारियों व नागरिकों की मौजूदगी में मां नर्मदा की आरती-पूजन व दुग्धाभिषेक कर गौरव महोत्सव यात्रा की शुरुआत की। राजघाट से शहर के बस स्टैंड तक यात्रा का स्वरुप वाहनों के काफिले के साथ रहा।

इस दौरान कैबिनेट मंत्री प्रेमसिंह पटेल, राज्यसभा सांसद डॉ. सुमेरसिंह सोलंकी, लोकसभा सांसद गजेंद्र पटेल सहित कलेक्टर शिवराजसिंह वर्मा, एसपी दीपक कुमार शुक्ला, एसडीएम घनश्याम धनगर तथा जनप्रतिनिधि, अधिकारी-कर्मचारी और बड़ी संख्या में नागरिक शामिल हुए। शहर के बस स्टैंड से बैंडबाजे व ढोल-ताशों के साथ गौरव यात्रा शुरु हुई। बस स्टैंड से कोर्ट चौराहा, रणजीत क्लब, कारंजा चौराहा, महेंद्र टॉकिज चौराहा होकर एसबीएन पीजी कॉलेज परिसर स्थित कार्यक्रम स्थल पहुंची। यहां केक काटकर जिले की स्थापना दिवस की खुशियां मनाई गई। इसके साथ ही जिले की स्थापना के रजत जयंती महोत्सव के दौरान आयोजित सात दिवसीय कार्यक्र्रमों की शुरुआत हुई। कॉलेज परिसर में भव्य मंच लगाकर विशाल परिसर में हजारों कुर्सियों की व्यवस्था की गई। साथ ही खाने-पीने की सामग्री के स्टॉल लगाए गए। रात्रि आठ बजे से शुरु हुए कार्यक्रम देर रात्रि तक चले।

🔴 ताशों की धुन पर जमकर झूमे मंत्री-सांसद
राजघाट में मां नर्मदा की आरती, पूजन व अभिषेक हुआ। इसके बाद शहर के बस स्टैंड से गौरव यात्रा पैदल शुरु हुई। इस दौरान सबसे आगे महिलाएं कलश शिरोधार्य कर चल रही थी। वहीं बैंडबाजों पर क्षेत्रीय गीत-संगीत गूंज रहे थे। ढोल-ताशों की धून पर मंत्री व सांसदों सहित अधिकारी व नागरिक भौंगर्या की तर्ज पर नृत्य कर रास्तेभर जमकर थिरके। सबसे आगे बोहरा समाज का स्काउड बैंड कदमताल करते हुए कलरव रुप से बैंड की प्रस्तुति दे रहे थे। वहीं एक ट्रॉली पर अहिर यादव समाज की मंडली भजन प्रस्तुत करते चल रही थी। वहीं अन्य ट्रॉॅलियों पर विभिन्न प्रसंगों पर आधारित झांकियां आकर्षण का केंद्र रही। इसी तरह आदिवासी वस्त्रों में सज्जित युवाओं का नृत्य ने रास्तेभर समा बांधा।

🔴 क्लब तिराहा अब अहिल्या माता के नाम
जिले की स्थापना दिवस और गौरव महोत्सव के अवसर पर शहर के रणजीत क्लब तिराहे को एक बड़ा नाम मिला। इस मौके पर क्लब तिराहे पर बने मिनी सर्कल का लोकार्पण हुआ। इस दौरान मंत्री, राज्यसभा व लोकसभा सांसद के अतिथ्य में तिराहे के सर्कल पर धनगर समाज द्वारा स्थापित माता अहिल्याबाई की आदमकद प्रतिमा का लोकार्पण किया। इससे शहर के प्रमुख तिराहे को अब नई पहचान मिली। वहीं इसके बाद गौरव यात्रा कारंजा पहुंची। यहां जनप्रतिनिधियों ने विजय स्तंभ पर पुष्पहार कर शहीदों को नमन किया। यात्रा का रास्तेभर विभिन्न समाज-संगठनों ने उल्लासपूर्वक स्वागत-सत्कार किया।

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com