जिले के स्थापना के 25 वें वर्ष पर होंगे सात दिवसीय आयोजन

🔴 गौरव महोत्सव मनाने के लिए हुई बैठक, बनाई कार्यक्रमों की रुपरेखा

✍️ दैनिक हमारा मैट्रो, बड़वानी

बड़वानी गौरव महोत्सव का आयोजन 25 से 31 मई तक किया जाएगा। इस आयोजन को ऐतिहासिक बनाने के लिए जिले के विभिन्न सामाजिक संगठन, शैक्षणिक संगठन, प्रतिष्ठानो, संघों के पदाधिकारियों ने शनिवार को कलेक्टर एवं एसडीएम की अध्यक्षता में सम्पन्न बैठक में कई घोषणाएं की है।
बैठक के दौरान व्यापारी संघ ने नर्मदा आरती के बाद नगर में प्रवेश करने वाली कलश यात्रा व जुलूस को जगह-जगह शरबत पिलवाने, सिर्वी समाज की ओर से कलश यात्रा में सहभागिता एवं छाछ का वितरण, जनजातीय समाज की तरफ से कोर्ट चौराहे पर स्वागत द्वार बनवाकर पुष्प वर्षा, पेंशनर्स एसोसियेशन की ओर से स्वागत द्वार व फ्लेक्स लगवाने की व्यवस्था सहित संस्थाओं द्वारा पेयजल, पुष्पवर्षा आदि की घोषणा की। महोत्सव के दौरान  यादव समाज की ओर से जुलूस में टैक्टर पर संत सिंगाजी के निमाड़ी भजन, सर्वस्वर्णकार समाज व दशोरा समाज के पदाधिकारियों ने भी व्यवस्थाओं का आश्वासन दिया। इस मौके पर कार्यक्रम स्थल पर 25 पौंड का केक काटा जाएगा। अधिकारियों ने आह्वान किया कि महोत्सव में कोई भी व्यक्ति, समाज, संस्था अपनी ओर व्यस्था कर सकता हैं।

🔴 इस तरह होंगे आयोजन

बड़वानी गौरव महोत्सव का मुख्य समारोह 25 से 31 मई तक शहीद भीमा नायक शासकीय महाविद्यालय परिसर में प्रतिदिन शाम 7 बजे से आयोजित किया जाएगा। इसकी शुरूआत 25 मई को शाम 5 बजे से बड़वानी नगर के प्रमुख मार्गांे से गौरव यात्रा निकालकर की जाएगी। इस गौरव यात्रा व कार्यक्रम में प्रदेश के मुख्यमंत्री के भी सम्मिलित होने की संभावना है।  25 मई के मुख्य समारोह में जहां कार्यक्र्रम स्थल पर बड़वानी विकास की प्रदर्शनी लगाई जाएगी। वहीं सांस्कृतिक कार्यक्रम के तहत मशहूर गायक आनंदीलाल भावेल के गीतों पर विभिन्न समूहों द्वारा जनजातीय लोकनृत्य, गरबा व भौगर्या सामुहिक नृत्य, विकास यात्रा की प्रदर्शनी व मल्टीमीडिया शो तथा स्थानीय उत्पादकों, कृषि संयंत्रों, घरेलू सामग्री की प्रदर्शन सह विक्रय की व्यवस्था रहेगी। 26 मई को शाम 7 बजे से सुगम संगीत संध्या का आयोजन, 27 मई को शाम 7 बजे से शिवकुंज पर सांस्कृतिक कार्यक्रम की रंगारंग प्रस्तुति, 28 मई को शाम 7 बजे से जिले व क्षेत्र की विभिन्न मंडलियों द्वारा निमाड़ी लोकगीत व भजन का रंगारंग कार्यक्रम, 29 मई को शाम 7 बजे से जिले के विभिन्न समूहों द्वारा जनजातीय लोकनृत्य, राजस्थानी लोकनृत्य, गरबा व भौगर्या सामुहिक नृत्य की प्रस्तुति, 30 मई को शाम 7 बजे से जिले के विभिन्न विद्यालयीन व महाविद्यालयीन विद्यार्थियों द्वारा रंगारंग सास्कृतिक कार्यक्रम की प्रस्तुति दी जाएगी। जबकि 31 मई को समापन अवसर पर आयोजित कार्यक्रम के दौरान शाम 7 बजे से कवि सम्मेलन का आयोजन किया जाएगा। इस कवि सम्मेलन में देश के नामचीन कवि जानी बैरागी व सुदीप भोला जैसे कवि अपनी प्रस्तुति देंगे।

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com