क्या मिल पायेगा हनुवंतिया से अच्छा फील ?

क्या मिल पायेगा हनुवंतिया से  अच्छा फील ?

 

 

भोपाल। खुला आसमान, चारों ओर पानी ही पानी, पानी पर अठखेलियां करते क्रूज और हाउसबोट। कू्रजशिप या हाउसबोट में समुद्र की लहरों पर सफर करने का अपना ही मजा है। लेकिन इस नजारे को जीने के लिए गोवा या केरल जाने और ढेर सारा पैसा और समय खर्च करने की जरूरत नहीं है। हिंदुस्तान के दिल में ही केरल के दर्शन करने के लिए आपको रुख करना होगा हनुवंतिया का। 15 अक्टूबर से मध्यप्रदेश पर्यटन विभाग हनुवंतिया में 80 दिवसीय जल महोत्सव की शुरुआत कर रहा है।

शुरू हो चुकी है बुकिंग

नर्मदा नदी के बैक वॉटर में तैयार अंतर्राष्ट्रीय स्तर का डेस्टीनेशन हनवंतिया टापू इन दिनों जल महोत्सव की तैयारियों में डूबा हुआ है। 2015 में 10 दिन और 2016 में महीने भर का जल महोत्सव आयोजित कर चुके मध्यप्रदेश पर्यटन निगम के चेयरमैन तपन भौमिक बताते हैं कि लोगों का फीडबैक मिला कि पिछले दो साल रहने की जगह नहीं मिलने से बहुत से लोग महोत्सव का मजा नहीं ले पाए। जल महोत्सव के बढ़ते क्रेज को भुनाने के लिए ही इस बार तीन महीने का आयोजन 15 अक्टूबर से 3 जनवरी तक किया जा रहा है।

पर्यटकों को रोमांच और सुकून की अनुभूति कराने के लिए इस दौरान वॉटर स्पोर्ट्स, एडवेंचर स्पोर्ट्स एवं अन्य मनोरंजक कार्यक्रम होंगे। उद्घाटन मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान करेंगे और उद्घाटन संध्या को देश के ख्यातिप्राप्त संगीतकार अपनी धुनों से सजाएंगे। एमपी टूरिज्म की वेबसाइट पर जल महोत्सव की बुकिंग भी शुरू हो चुकी है।

प्रदेश में पहली बार स्कूबा डाइविंग

देश-विदेश के पर्यटक जल महोत्सव का हिस्सा बनने आ रहे हैं तो वॉटर और एड्वेंचर स्पोर्ट्स तो होंगे ही। वॉटर पैरासीलिंग, जेट स्की, जिप लाइन, बनाना राइड, वॉल क्लाइम्बिंग, मोटर ग्लाइडिंग, हॉट एअर बलून, फास्ट मोटर बोट, हाउसबोट जैसी लगभग 25 तरह की पानी, हवा और जमीन से जुड़ी गतिविधियों का लुत्फ सैलानी उठा सकेंगे। बजट के अनुसार 50 रुपए से 3500 रुपए तक की शुल्क में गतिविधियों के साथ पारंपरिक खेलों को बढ़ावा देने और पर्यटकों का मन मोहने के लिए पतंगबाजी, रस्साकशी, बैलगाड़ी दौड़ और नौकादौड़ जैसी प्रतियोगिताएं भी होंगी। उपयुक्त स्तर तक गहरा पानी रहा तो मध्यप्रदेश में पहली बार स्कूबा डाइविंग भी की जा सकेगी।

टैंट सिटी में बिताएं सुकून के चंद पल

हनुवंतिया में आकार ले रही टैंट सिटी के लगभग 115 टैंट वाजिब कीमतों में किसी फाइव स्टार रूम से कम नहीं होंगे। एड्वेंचर स्पोर्ट्स के बाद सुकून के चंद पल बिताने के लिए कॉफी के प्याले और टैंट के बाहर हिचकोले खाते पानी के नजारे से बेहतर कुछ नहीं हो सकता। टैंट सिटी का हस्तशिल्प बाजार विभिन्ना राज्यों की शिल्पकला और कारीगरी से भरा होगा तो हर शाम की फिजा में रंग घोलेंगे भारत के लोकसंगीत और लोक-कलाकार।

मेहमाननवाजी को तैयार हाउसबोट

हाउसबोट के डेक से दिलकश सुबह और सुनहरी शाम का नजारा, समुद्र की लहरों सा हिचकोले खाता पानी और शानदार मेहमाननवाजी, पर्यटकों को देसी अंदाज में रोमांचित करेगी। केरल के खास शिल्पकारों की बनाई इन हाउसबोट के झरोखे से दूर-दूर तक फैले पानी में अठखेलियां करते पक्षियों और जलीय जीवों का अद्भुत नजारा एक सुनहरी याद बनकर हमेशा के लिए कैद हो सकता है।

कड़ी सुरक्षा भी होगी

जल महोत्सव के दौरान आगंतुकों को पहचान पत्र दिया जाएगा और अनाधिकृत व्यक्ति का प्रवेश वर्जित होगा। तटों की सुरक्षा और पर्यटकों की देखभाल के लिए तटरक्षक दल 24 घंटे तैनात रहेगा।

नजदीकी शहरों से दूरी

इंदौर से 170 किमी

भोपाल से 235 किमी

खंडवा से 45 किमी

ओंकारेश्वर से 76 किमी

कैसे पहुंचे

नजदीकी रेलवे स्टेशन – बीड़ (मूंदी)

सेकंड नजदीकी रेलवे स्टेशन – खंडवा

नजदीकी एयरपोर्ट – इंदौर

Source:Agency

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com