जिले की आबादी के बराबर पहुंचा वैक्सीनेशन का आंकड़ा

↘️प्रिकाशन डोज की ओर नहीं योद्धाओं व बुजुर्ग में रुझान कम

↘️स्कूल खुलने पर किशोरों के वेक्सिनेशन में तेजी

✍️इम्तियाज खान intu
बड़वानी। कोरोना की तीसरी लहर पर चोट के लिए वैक्सीनेशन कारगार साबित हुई है। 17 लाख 66 हजार 999 आबादी वाले हमारे जिले में एक वर्ष एक माह की अवधि में कुल वैक्सीनेशन का आंकड़ा 17 लाख 35 हजार 438 तक पहुंच गया है। इसमें 9 लाख 24 हजार 480 लोगों ने प्रथम और 8 लाख 1 हजार 191 लोगों ने दूसरा डोज लगवाया। जबकि दूसरे डोज की 9 माह अवधि के बाद लगने वाले प्रिकाशन डोज की ओर कोरोना योद्धा हेल्थ वर्कर, फ्रंट लाइन वर्कर और 60 वर्ष से अधिक आयु के बुजुर्गों का रुझान कम नजर आ रहा है। अब तक जिले में 9 हजार 767 प्रिकाशन डोज ही लग पाए है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले में मंगलवार शाम तक की स्थिति में हेल्थ वर्करों में 7053 को प्रथम, 7063 को द्वितीय और 4348 ने प्रिकाशन डोज लगवाया। 5678 फ्रंट लाइन वर्करों ने प्रथम और 5697 ने द्वितीय तथा 2244 ने प्रिकाशन डोज लगाया। इसी तरह 15 से 17 आयु वर्ग के 65 हजार 59 किशोरों ने प्रथम और 1585 किशोरों ने द्वितीय डोज लगाया। 18 से 44 आयु वर्ग में 5 लाख 91 हजार 341 प्रथम और पांच लाख 38 हजार 160 लोगों को दूसरा डोज लगा। इसी तरह 45 से 59 आयु वर्ग में एक लाख 71 हजार 427 को प्रथम और एक लाख 67 हजार 141 ने द्वितीय डोज लगवाया। जबकि 60 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के लोगों में 83 हजार 922 ने प्रथम और 81 हजार 545 ने द्वितीय तथा 3175 बुजुर्गों ने प्रिकाशन डोज लगावाया है।
➡️स्कूलों में लगने लगी वैक्सीन
कोरोना संक्रमण के चलते 16 से 31 जनवरी तक स्कूलों का संचालन बंद हुआ था। इससे मुख्य रूप से 15 से 18 आयु वर्ग के किशोर-किशोरियों की वैक्सीनेशन रफ्तार थम गई थी। अब एक फरवरी से स्कूलों का संचालन 50 फीसदी क्षमता के साथ शुरू हुआ है। ऐसे में स्कूलों में फिर उक्त आयु वर्ग के शेष रहे विद्यार्थियों का वैक्सीनेशन हो रहा है। बुधवार को शहर के रणजीत क्लब के सामने हाईस्कूल क्रमांक तीन में विद्यार्थियों को वैक्सीन लगाई गई।
🔴प्रथम डोज : 94.49 प्रतिशत
🔴द्वितीय डोज : 87.92 प्रतिशत
➡️विकासखंड- वैक्सीनेशन
बड़वानी- 126097
निवाली- 135347
पानसेमल- 195659
पाटी- 150721
राजपुर- 266195
सेंधवा- 417297
सिलावद- 191703
ठीकरी- 252419

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com