UP के दो दर्जन से अधिक शहरों में हिंसक हुआ प्रदर्शन, 7 लोगों की मौत

नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में चल रहा प्रदर्शन शुक्रवार को उत्तर प्रदेश के दो दर्जन से ज्यादा शहरों में हिंसक हो गया। उग्र भीड़ ने वाहन फूंके और पुलिस पर पथराव किया। आमने-सामने की फायरिंग में मेरठ, कानपुर, फिरोज़ाबाद, मुजफ्फरनगर और संभल में एक-एक व्यक्ति की मौत हो गई, जबकि बिजनौर में दो लोगों की मौत की खबर है। बिजनौर में हुई मौत की पुष्टि नहीं हो सकी है। दर्जनों पुलिस कर्मी जख्मी हुए हैं। शुक्रवार को पूरे प्रदेश में इंटरनेट सेवाएं बंद रहीं, जिससे लोगों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ा।

प्रदेश सरकार ने जिलों में सतर्कता बढ़ा दी है। सरकार के प्रवक्ता ने कहा है कि हर जिले में पीएसी व रैपिड एक्शन फोर्स की अतिरिक्त टुकड़ियां तैनात करने का फैसला किया गया है। गुरुवार को लखनऊ में हुई जबरदस्त हिंसा के बाद शुक्रवार को पूरे प्रदेश में हाई अलर्ट कर दिया गया था। शुक्रवार को जुमे की नमाज़ के मद्देनज़र संवेदनशील इलाकों में भारी पुलिस बल तैनात किया गया था। पुलिस अधिकारियों के मुताबिक जुमे की नमाज़ तो शांति पूर्ण ढंग से हुई लेकिन बाद में भीड़ धरना-प्रदर्शन पर अड़ गई। कई स्थानों पर जुलूस निकालने की मांग की गई, जिसे पुलिस ने सख्ती से रोका। प्रदर्शनकारी नागरिक संशोधन कानून वापस लेने की मांग के साथ ही प्रदेश व केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी कर रहे थे।

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com