दिल्ली में बदमाशों के हौसले बुलंद

देश की राजधानी दिल्ली में पिछले रविवार से लेकर अब तक लूट, हत्या, हत्या की कोशिश के आधा दर्जन से अधिक मामले सामने आ चुके हैं। इस बीच अपराध के मामले थमते नहीं दिखाई दे रहे, यहां तक कि ओखला इलाके में महिला जज के साथ भी लूटपाट का मामला सामने आया है। ताजा मामले में शुक्रवार एक और मामला सामने आया है, जिसमें अपराधी सरेआम वाहन सवार शख्स पर गोली चलाता दिखाई दे रहा है। यह मामला पूर्वी दिल्ली के उस्मानपुर इलाके का है। घटना का एक वीडियो जारी हुआ है, जिसमें न्यू उस्मानपुर इलाके में एक बदमाश बाइक पर पीछे सवाल शख्स पर फायरिंग करता है। इस दौरान बाइक सवार गिर जाते हैं। वहीं, फायर मिस होने पर बदमाश पिस्टल के बट से मारता फिर वहां से फरार हो जाता है। घायल को नजदीक के अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

लूट का विरोध करने पर युवक की सड़क पर हत्या

पश्चिमी दिल्ली के सागरपुर थाना क्षेत्र में एक युवक ने लूटपाट का विरोध किया तो लुटेरों ने उनकी चाकू गोदकर बीच सड़क पर हत्या कर दी और फरार हो गए। मृतक की पहचान मोनू त्यागी (28) के रूप में हुई है। लुटेरों ने उन्हें तब निशाना बनाया जब वे सड़क पर टैक्सी का इंतजार कर रहे थे। हत्या की यह पूरी वारदात सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई। फिलहाल हत्या का मामला दर्जकर घटना की तहकीकात की जा रही है। पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया गया है। इस मामले में एक संदिग्ध को पुलिस ने हिरासत में लिया है, जिससे पूछताछ की जा रही है। मोनू मूल रूप से उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जिला स्थित उकावली गांव के रहने वाले थे। खेतीबाड़ी से समय मिलने पर वे समय-समय पर दिल्ली आकर हंस पार्क में अपने चाचा के साथ समारोहों में साउंड सिस्टम लगाने के कारोबार में भी साथ देते थे। एक कार्यक्रम से लौटने के बाद मोनू सागरपुर में चाचा के पास ठहर गए। इसके बाद बृहस्पतिवार सुबह करीब साढ़े चार बजे सागरपुर से मुजफ्फनगर जाने के लिए चाचा के घर से करीब 50 मीटर की दूरी पर इलाके की मुख्य सड़क पर टैक्सी का इंतजार करने लगे। थोड़ी ही देर बाद तीन आए और सामान छीनने लगे। मोनू ने लूटपाट का विरोध किया तो एक बदमाश ने चाकू से हमला कर दिया। जब मोनू जमीन पर गिर पड़े तो बदमाश मोबाइल व नकदी लूटकर भाग गए। इधर, मोनू का शोर सुनकर एक महिला की नींद टूटी। इसके बाद उन्होंने शोर मचाकर लोगों को जगाया। इसके बाद मामले की जानकारी पुलिस और मोनू के के रिश्तेदारों को दी गई और कुछ लोग उन्हें लेकर नजदीकी अस्पताल पहुंचे, जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। पुलिस के अनुसार इस मामले में इलाके में घूमने वाले कुछ नशेड़ियों पर शक है। एक शख्स को शक के आधार पर हिरासत में भी लिया है, लेकिन वह बार-बार अपना बयान बदल रहा है।

केशवपुरम इलाके में व्यवसायी के कर्मचारी से 20 लाख लूटे

केशवपुरम इलाके में बुधवार रात को बाइक सवार बदमाश व्यवसायी के कर्मचारी से 20 लाख रुपये लूट कर फरार हो गए। जानकारी के अनुसार, कन्हैया एल्यूमिनियम क्वायल बनाने वाली फैक्ट्री में कैशियर का काम करते हैं। वह मालिक के कहने पर एक अन्य कर्मी के साथ बुधवार को स्कूटी से चांदनी चौक गए थे और वहां से बीस लाख रुपये लेकर लारेंस रोड फर्म के आफिस के लिए लौट रहे थे। रात करीब नौ बजे दोनों बाइक से वजीरपुर फ्लाईओवर के पास जैसे ही पहुंचे कि बाइक सवार तीन युवकों ने उन्हें रोक लिया और पिस्टल तान दी। इसके बाद जान मारने की धमकी देकर रुपये का बैग छीनकर फरार हो गए। इसके बाद कन्हैया ने मामले की जानकारी मालिक और पुलिस को दी। पुलिस अधिकारियों के अनुसार, जिस तरह से बदमाशों ने लूटपाट की, उससे लग रहा है कि उन्हें रुपये लाने की जानकारी पहले से थी। बदमाश कर्मियों का पहले से ही पीछा कर रहे थे। मामले में किसी जानकार की संलिप्तता हो सकती है।

बैंक में घुसकर कारोबारी से 9 लाख लूटे

फर्श बाजार इलाके स्थित सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया की शाखा में दिनदहाड़े दो बदमाश हथियार के साथ दाखिल हो गए। यहां बदमाशों ने खाते में रकम जमा कराने पहुंचे कारोबारी से पौने नौ लाख रुपये लूट लिए, लेकिन भागते समय एक बदमाश फुटपाथ पर लड़खड़ाकर गिर गया। इसके बाद बैंक के सुरक्षा गार्ड ने उसे दबोच लिया, जबकि उसका साथी फरार हो गया। गश्त करते हुए पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। आरोपित को पुलिस के हवाले कर दिया गया। उसके पास से लूटी गई पूरी नकदी भी बरामद हो गई। आरोपित की पहचान विकास (20) निवासी अमरोहा, उप्र के रूप में हुई है। उसके पास से कट्टा और चार कारतूस बरामद हुए हैं। पूछताछ में पता चला कि वह साथी के साथ अमरोहा से दो दिन पहले ही दिल्ली पहुंचा था।

महेश परिवार के साथ फर्श बाजार इलाके में रहते हैं। उनका इलाके में ही साड़ियों का शोरूम है। बृहस्पतिवार दोपहर बाद 3:30 बजे वे फर्श बाजार के भोलानाथ नगर स्थित सेंट्रल बैंक की शाखा में 8.89 लाख रुपये जमा कराने पहुंचे थे। यह शाखा निजी स्कूल परिसर में है। महेश के पास बैग में नकदी थी। वे कैश काउंटर के पास खड़े थे, तभी नकाबपोश दो बदमाश पिस्टल लेकर घुसे और महेश से बैग छीन लिया। वे पिस्टल लहराते हुए वहां से निकले तो पीछे- बैंक में तैनात सुरक्षा गार्ड भी निकले। परिसर के बाहर एक बदमाश फुटपाथ पर लड़खड़ाकर गिर गया और सुरक्षा गार्ड ने लोगों की मदद से उसे दबोच लिया। इस बीच पुलिसकर्मी भी वहां पहुंच गए। आरोपित से कारोबारी का बैग भी बरामद हो गया। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि दूसरा बदमाश बाइक से भाग निकला। विकास ने बताया कि उन्हें पैसों की जरूरत थी। इसके लिए दिल्ली में लूटपाट की साजिश रची और मंगलवार सुबह ट्रेन से शाहदरा स्टेशन पहुंचे। यहां से बाहर निकलकर दोनों ने कुछ बैंक शाखाओं की रेकी की। इसके बाद रात में दोनों लोनी में जानकार के पास चले गए। बुधवार को दोनों उसी की मोटरसाइकिल से फिर शाहदरा पहुंचे। यहां उन्होंने स्कूल परिसर में स्थित सेंट्रल बैंक की इस शाखा की रेकी की। उन्हें पता चला कि यहां एक सुरक्षागार्ड है। इसके बाद बृहस्पतिवार को साथी के साथ वारदात को अंजाम दिया।

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com