पीएम मोदी का साफ संदेश भारत के अंदरूनी मामलों में टांग अड़ाना बंद करे : पाकिस्‍तान

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत-अमेरिका की दोस्ती को ऊंचाई देते हुए पाकिस्‍तान को साफ संदेश दिया कि वह भारत के अंदरूनी मामलों में टांग अड़ाना बंद करे ,

पीएम मोदी ने सधे हुए मेजबान की तरह ट्रंप का स्वागत करते हुए कहा कि आज इस मंच पर हमारे साथ जो हस्ती है, वह किसी पहचान की मोहताज नहीं है। आज की तारीख में ट्रंप को दुनिया का हर इंसान जानता है। ट्रंप ने अमेरिका के लिए शानदार काम किया है। वह अमेरिका को एक बार फिर से महान बनाने की दिशा में काम कर रहे हैं।

पीएम मोदी ने कहा कि ट्रंप ने अमेरिका की अर्थव्यवस्था को मजबूत किया है और लगातार इस दिशा में प्रयास कर रहे हैं। मैं अब से पहले भी ट्रंप से मिला हूं। उनसे मुलाकात में हर बार वही गर्मजोशी और अपनापन दिखाई देता है। अमेरिकी राष्‍ट्रपति की तारीफ करते हुए उन्होंने ‘अबकी बार, टंप सरकार’ का नारा भी दिया।

पीएम मोदी ने कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने का जिक्र करके इमरान खान को मुंहतोड़ जवाब देते हुए बड़ा मास्टर स्ट्रोक खेला। अनुच्‍छेद-370 को एक बाधा बताते हुए उन्‍होंने कहा कि उनकी सरकार ने 70 साल पुरानी इस बाधा को विदा कर दिया है। हमारी संसद के दोनों सदनों में घंटों तक इसकी चर्चा हुई। हमारे पास उच्च सदन में बहुमत नहीं है। इसके बाद भी इससे जुड़े फैसले दो तिहाई बहुमत से पारित हुए

मोदी ने कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने का जिक्र करते हुए पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान को भी खरी खरी सुनाई। प्रधानमंत्री ने कहा कि जम्‍मू-कश्‍मीर से अनुच्‍छेद-370 के प्रावधान हटाने के भारत के फैसले से उन लोगों को तकलीफ हुई जो खुद अपना देश नहीं संभाल पा रहे हैं। जम्‍मू कश्‍मीर के लोग अनुच्‍छेद-370 के कारण विकास के लाभ से वंचित थे। इस हालात का फायदा आतंकवादी और अलगाववादी ताकतें उठा रही थीं।

प्रधानमंत्री ने भाषण रोककर अमेरिकी राष्‍ट्रपति ट्रंप और अमेरिकी सांसदों के सामने भारतीय संसद के लिए खड़े होकर तालियां भी बजवाई। इसके साथ ही अमेरिका में हुए सबसे बड़े आतंकी हमले 26/11 और मुंबई अटैक को जोड़कर सियासत का सिक्‍सर जड़ा। उन्‍होंने कहा कि दुनिया को समझना होगा कि इन हमलों के आतंकी कहां पाए जाते हैं।

मोदी ने आतंकवाद और इसे बढ़ावा देने वालों के खिलाफ निर्णायक लड़ाई का भी आह्वान किया। उन्‍होंने कहा आतंकवाद को समूल नष्‍ट करने का समय आ गया है। पाकिस्‍तान का नाम लिए बगैर उन्‍होंने कहा कि पूरी दुनिया जानती है कि आतंकवाद को शह और समर्थन देने के पीछे किसका हाथ है। राष्‍ट्रपति ट्रंप आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में मजबूती से साथ खड़े हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि राष्‍ट्रपति ट्रंप और सभी सीनेटरों की मौजूदगी के बीच भारत की प्रगति की चर्चा एक सौ तीस करोड़ भारतीयों की उप‍लब्धि है। आज टैक्‍सस की स्पिरिट यहां भी दिखाई दे रही है। इस अपार जनसमूह की उपस्थिति केवल अर्थमेटिक तक ही सीमित नहीं है। आज हम यहां एक नई हिस्‍ट्री बनते हुए देख रहे हैं। भारत न केवल परिवर्तन क्रम में है, बल्कि वह चुनौतियों का सामना करते हुए फाइव ट्रिलियन डॉलर इकॉनमी बनने के लक्ष्‍य की ओर अग्रसर है।

मोदी ने कहा कि सबसे बड़ा मंत्र है… सबका साथ-सबका विकास, भारत की सबसे बड़ी नीति है… जन भागीदारी, भारत का सबसे प्रचलित नारा है… संकल्प से सिद्धि तक, भारत का सबसे बड़ा संकल्प है… न्यू इंडिया। हम भारत में विकासोन्मुखी और निवेशोन्मुखी माहौल बना रहे हैं। हम देश के सार्वजनिक आधारभूत ढांचे पर 100 लाख करोड़ रुपये का निवेश कर रहे हैं

प्रधानमंत्री ने कहा कि पिछले पांच वर्षों में दुनिया में अनिश्चितता के बावजूद भारत का विकास दर 7.5 फीसद रही है। यह देश की किसी भी सरकार का अब तक का श्रेष्ठ औसत है। भारत के कारपोरेट कर में कटौती के फैसले से वैश्विक स्तर पर अच्छा संदेश गया है। भारत कुछ लोगों की सोच को चुनौती दे रहा है, जिनकी सोच है कि कुछ बदल ही नहीं सकता। बीते पांच वर्षों में 130 करोड़ भारतीयों ने हर क्षेत्र में ऐसे नतीजे हासिल किए हैं जिनकी पहले कल्पना भी नहीं की जाती थी।

Posted By :-

Amit Kumar Gupta

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com