कर्नाटक में बाढ़ से ताबाही हुई 24 की मौत ,कई ट्रेनें रद्द

केरल, कर्नाटक, महाराष्ट्र, गुजरात समेत देश के कई राज्यों में पिछले कुछ दिनों से लगातार हो रही बारिश से बाढ़ ने विकराल रूप ले लिया है। इन राज्यों में अबतक बाढ़ की वजह से 70 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। बाढ़ के कारण लाखों लोग प्रभावित हुए हैं और हजारों लोगों को राहत शिविरों में रखा गया है। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने बताया कि पिछले दो दिनों में महाराष्ट्र, केरल और कर्नाटक में मूसलधार बारिश होने से हालात और खराब हुए हैं। मौसम विभाग ने अगले 24 घंटों में इन सभी राज्यों के साथ गुजरात, पश्चिमी मध्य प्रदेश और पूर्वी राजस्थान में भारी बारिश की चेतावनी जारी की है।

कर्नाटक में बाढ़ के बाद भूस्खलन की वजह से मैसूर डिवीजन के हसन-मंगलुरू खंड पर चलने वाली 10 ट्रेनों को रद कर दिया गया है।

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस ने आज बाढ़ प्रभावित कोल्हापुर और सांगली का दौरा किया और अधिकारियों के साथ मिलकर उसकी समीक्षा की। उन्होंने साथ ही कहा कि विशाखपट्टनम से भारतीय नौसेना की टीमें आज पहुंच रही हैं, क्योंकि कोल्हापुर शिरोल क्षेत्र गंभीर रूप से प्रभावित है उनकी मदद के लिए टीम पहुंच रही है। इसके अलावा सांगली में 95 नावें चल रही हैं।
बता दें कि अमृतसर-लाहौर और ननकाना साहिब-अमृतसर बसें रोजाना की तरह शुक्रवार को चलीं। शनिवार को भी दोनों बसों ने शनिवार सुबह करीब 10.45 बजे अटारी के पास एक-दूसरे को क्रास किया। पूर्व में यह दोनों बसें अलग-अलग समय पर अटारी पहुंचती थीं। यह पहली बार था कि भारत-पाक के बीच चलने वाले ये बसें एक समय पर अटारी पहुंचीं। इसके बाद खुलासा हुआ कि पाकिस्‍तान ने अपनी बस को अमृतसर से खाली ही वापस मंगवाया है और लाहौर से भारत की बस को खाली लौटाया है।
बता दें कि जम्‍मू-कश्‍मीर से अनुच्‍छेद 370 और 35ए को समाप्‍त किए जाने के बाद पाकिस्तान के मंत्री ने भारत-पाक के बीच बस सेवा को भी बंद करने का ऐलान किया था। हालांकि इसके बाद भी अमृतसर-लाहौर बस सेवा जारी थी। शुक्रवार को दिल्ली-लाहौर और लाहौर-दिल्ली के अलावा अमृतसर-लाहौर और लाहौर-अमृतसर के बीच बसें सामान्य रूप से ही चलीं। शुक्रवार को दिल्ली से लाहौर के बीच चलने वाली बस सुबह 8.35 बजे जेसीपी अटारी पहुंची। इस बस में 22 यात्री सवार थे। इसी तरह लाहौर से दिल्ली के बीच चलने वाली बस दोपहर दो बजे जेसीपी पहुंची और इसमें कुल 28 यात्री सवार थे।

अमृतसर-लाहौर के बीच चलने वाली बस में दो यात्री आए, जबकि अमृतसर से लाहौर जाने वाली बस में सिर्फ एक यात्री ने शुक्रवार को सफर किया। इंटेग्रेटेड चेक पोस्ट (आइसीपी) अटारी पर शुक्रवार को भी कारोबार जारी रहा। पाकिस्तान की ओर से कुल छह ट्रक आइसीपी अटारी पहुंचे, जबकि भारत की ओर से सिर्फ एक ट्रक जीरो लाइन पार करके पाकिस्तान गया। इसके बाद शनिवार को पाकिस्‍तान ने बिना काेई पूर्व सूचना दिए अमृतसर-लाहौर बस सेवा को बंद करने का कदम उठाया।

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com