निर्मोही अखाड़े से cji का बड़ा बयान बोले अगले दो घंटे में दस्तावेज सबूत पेश करे

अयोध्या जन्मभूमि मामले में सुप्रीम कोर्ट में आज दूसरे दिन की सुनवाई चल रही है। अयोध्या भूमि विवाद मामले में सुप्रीम कोर्ट(Supreme Court) ने निर्मोही अखाड़ा से दस्तावेज से जुड़े सबूतों पर अपना अधिकार साबित करने के लिए कहा है। सुप्रीम कोर्ट ने पूछा है कि क्या आपके पास कुर्की से पहले राम जन्मभूमि के कब्जे का मौखिक या लिखित सबूत रिकॉर्ड में है ? जिसके जवाब में निर्मोही अखाड़ा ने कहा है, ‘ 1982 में एक डकैती हुई थी, इसमें उन्होंने रिकॉर्ड खो दिए।

इस बीच परासरन ने वाल्मीकि रामायण का हवाला देते हुए कहा कि भगवान राम का अयोध्या मे जन्म हुआ था। ये रामजन्मभूमि है। इतने लंबे समय बाद ये साबित करना मुश्किल है कि जन्म ठीक किस जगह हुआ था लेकिन लाखों लोगों की आस्था और विश्वास है कि यह राम जन्म स्थान है
चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने निर्मोही अखाड़ा के वकील सुशील कुमार जैन से कहा है कि वो अगले दो घंटे में मौखिक या दस्तावेज से जुड़े सबूत देखना चाहेंगे। न्यायमूर्ति धनंजय चंद्रचूड़ ने कहा है, ‘हमें मूल दस्तावेज दिखाएं। निर्मोही अखाड़ा के वकील सुशील कुमार जैन ने इसके जवाब में कहा कि इससे संबंधित दस्तावेज इलाहाबाद हाईकोर्ट(Allahabad High Court) की जजमेंच के हवाले है।