वर्ल्ड कप – जडेजा ने आलोचना पर मांजरेकर को जवाब दिया- आपसे दोगुने मैच खेले हैं

रविंद्र जडेजा ने पूर्व क्रिकेटर और कमेंटेटर संजय मांजरेकर की उस टिप्पणी का सख्त जवाब दिया है, जिसमें उन्होंने जडेजा को प्लेइंग इलेवन में शामिल किए जाने का विरोध किया था। जडेजा ने बुधवार को एक ट्वीट किया। इसमें संजय मांजरेकर के टैग करते हुए कहा- मैं अब तक आपसे दोगुने मैच खेल चुका हूं और खेल रहा हूं। दूसरे लोगों ने जो हासिल किया है उसका सम्मान करना सीखिए। मैं आपका वर्बल डायरिया बहुत सुन चुका हूं। रविंद्र टीम इंडिया की वर्ल्ड कप टीम में हैं लेकिन अब तक उनको किसी भी मैच की प्लेइंग इलेवन में शामिल नहीं किया गया है।

Ravindrasinh jadeja

@imjadeja

Still i have played twice the number of matches you have played and i m still playing. Learn to respect ppl who have achieved.i have heard enough of your verbal diarrhoea.@sanjaymanjrekar

54.2K people are talking about this

Ravindrasinh jadeja

@imjadeja

Look for respect – not attention. It lasts so much longer.

1,314 people are talking about this

मांजरेकर ने लिया था जडेजा का नाम
संजय मांजरेकर ने कुछ दिनों पहले एक इंटरव्यू दिया था। इसमें उन्होंने रविंद्र जडेजा का नाम साफ तौर पर लेते हुए कहा था कि वो आधे बॉलर और आधे बैट्समैन को टीम में शामिल किए जाने के विरोधी हैं। इसकी बजाए किसी स्पेशलिस्ट बॉलर या स्पेशलिस्ट बैट्समैन को ही खिलाया जाना चाहिए। संजय ने यह टिप्पणी इंग्लैंड के हाथों भारत की हार के बाद की थी। इस पूर्व क्रिकेटर से पूछा गया था कि क्या भारत को बांग्लादेश के खिलाफ जडेजा को टीम में शामिल करना चाहिए। संजय ने कहा था, “मैं जडेजा जैसे प्लेयर को इस मौके और उनके कॅरियर के इस मुकाम पर 50 ओवर की क्रिकेट खिलाने के पक्ष में नहीं हूं। टेस्ट मैचों में वो विशुद्ध गेंदबाज हैं। लेकिन, 50 ओवर की क्रिकेट में कोई स्पेशलिस्ट बैट्समैन या स्पेशलिस्ट बॉलर ही होना चाहिए।”

फील्डिंग के लिए मैदान पर उतरे थे जडेजा 
रविंद्र जडेजा भले ही इस विश्व कप में कोई मैच अब तक न खेले हों, लेकिन वो कुछ मैचों में बतौर सब्सिट्यूट फील्डर मैदान पर उतर चुके हैं। इंग्लैंड के खिलाफ मैच में टीम इंडिया को पहली सफलता 160 रन पर मिली थी। तब राहुल की जगह फील्डिंग कर रहे जडेजा ने ही 60 रन पर जेसन रॉय का बेहद मुश्किल कैच पकड़ा था। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भी जडेजा ने बेहतरीन फील्डिंग की थी।