अमेरिका – अलास्का से आ रही गर्म हवाओं से ग्लेशियर पिघले, जहरीले धुएं से जीना मुश्किल हुआ

अलास्का से आ रही गर्म हवाओं की वजह से ग्लेशियर पिघलने शुरू हो गए हैं। इससे नदियों का जलस्तर भी तेजी से बढ़ रहा है। पांच जून को स्वान लेन के जंगलों में आग लगी थी और अब तक यह 68 हजार एकड़ में फैल चुकी है। जहरीले धुएं की वजह से लोगों का जीना मुश्किल हो गया है। प्रशासन ने सलाह दी है कि उम्रदराज और बीमार लोग घरों से न निकलें।

अलास्का के 40% लोग एंकोरेज में रहते हैं

  1. नेशनल वेदर सर्विस ने एंकोरेज में लोगों को घरों से बाहर न निकलने की सलाह दी है। यहां अलास्का के 40% लोग रहते हैं। उत्तरी इलाके में स्थित फेयरबैंक्स में दमकल महकमे ने दो एकड़ जगह खाली करा ली है। शोवल क्रीक में लगी आग की वजह से लोगों को चेतावनी दी गई है कि वे जल्द से जल्द इलाका खाली कर दें।
  2. दमकल महकमे का कहना है कि जंगलों में 354 जगहों पर आग लगी है। आग से सबसे ज्यादा प्रभावित इलाका केनाई नेशनल वाइल्ड लाइफ रिफ्यूज है। डेनाली नेशनल पार्क और आर्कटिक नेशनल वाइल्ड लाइफ रिफ्यूज जैसी अहम जगहें भी आग की चपेट में हैं।
  3. पर्यावरणविद रिक थोमैन का कहना है कि पूरे अलास्का में गर्म हवाएं जीना मुश्किल कर रही हैं। एंकोरेज में पिछले महीने असहनीय गर्मी देखी पड़ी। बर्फ पहले ही पिघलनी शुरू हो गई थी। जंगलों से निकली आग की वजह से हालात और बिगड़ गए हैं।