सोनिया ने कहा- जिन पीएसयू को नेहरू ने मंदिर कहा था, अब उद्योगपतियों के चलते उन पर संकट

लोकसभा में मंगलवार को यूपीए प्रमुख सोनिया गांधी ने मोदी सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने कहा- पंडित नेहरू ने सार्वजनिक उपक्रम (पीएसयू) को आधुनिक भारत का मंदिर बताया था। आज यह देखकर दुःख होता है कि अधिकांश मंदिर खतरे में हैं। लाभ तो छोड़िए, वहां के कर्मचारियों को वेतन भी समय पर नहीं मिल रहा है।

सरकार ने कंपनीकरण को राज बनाकर रखा: सोनिया

  1. सोनिया गांधी ने इस बीच रायबरेली की रेल कोच फैक्ट्री के कंपनीकरण का मुद्दा भी उठाया। उन्होंने सरकार पर कुछ उद्योगपतियों को लाभ पहुंचाने के लिए सरकारी कंपनियों को संकट में डालने का आरोप लगाया।
  2. सोनिया ने कहा- एचएएल, बीएसएनएल और एमटीएनएल के साथ यह हो रहा है। यह किसी से छिपा नहीं है। मैं सरकार से कहती हूं कि रायबरेली की मॉर्डन कोच फैक्ट्री को बचाए। अन्य पीएसयू और उनके कर्मचारियों, उनके परिवारों को सम्मान दें।
  3. सोनिया ने बताया- कंपनीकरण निजीकरण की शुरुआत होती है। यह देश की अमूल्य संपत्ति कौड़ियों के भाव निजी कंपनियों को बेचने की शुरुआत है। हजारों लोग बेरोजगार होते हैं।
  4. सोनिया ने कहा- रायबरेली की रेल कोच फैक्ट्री भारतीय रेल का सबसे आधुनिक कारखाना है। वहां सबसे सस्ते और अच्छे कोच बनते हैं। वहाँ क्षमता से ज्यादा उत्पादन हो रहा है। कंपनीकरण से दो हजार से ज्यादा मजदूरों, कर्मचारियों और उनके परिवारों का भविष्य संकट में है।
  5. सोनिया के मुताबिक- यह समझना मुश्किल है कि सरकार निजीकरण क्यों करना चाहती है। उन्होंने आरोप लगाया कि रेल कंपनियों के कंपनीकरण को सरकार ने गहरा राज बनाकर रखा। यह फैसला करने से पहले मंजदूर संघ तथा मजदूरों को भी विश्वास में नहीं लिया गया।